लखनऊ: योगी राज में यूपी से बदमाशों के सफाया का काम जारी है. ऐसे में अब बदमाशों को एनकाउंटर का डर सताने लगा है. ऐसा ही एक नजारा झिंझाना थाने में देखने को मिला, जहां हत्‍या का आरोपी खुद अपनी गिरफ्तारी के लिए थाने पहुंच गया. दरअसल, यूपी में सीएम योगी की ओर से पुलिस को सख्‍त निर्देश है कि वह बदमाशों और अपराधियों पर सख्‍ती से पेश आएं. लिहाजा पुलिस ने कई नामचीन बदमाशों को एनकाउंटर में मार गिराया है. वहीं कुछ को जेल में बंद कर दिया है. हाल ही में ग्रेटर नोएडा के कासना थाना क्षेत्र में भी पुलिस ने एक 25 हजार के इनामी बदमाश को मार गिराया था.

इससे यूपी के बदमाशों में खौफ बैठ रहा है और वो एनकाउंटर में मारे जाने के डर से खुद को सरेंडर कर रहे हैं. झिंझाना थाने में खुद को पुलिस के हवाले करने वाले हत्‍या के आरोपी ने कहा कि उसे तत्‍काल गिरफ्तार कर लिया जाए. हत्‍या करने वाला आरोपी जुर्म को अंजाम देने के बाद से ही फरार था और पुलिस उसे ढूंढ़ रही थी. आरोपी ने पुलिस के सामने गिड़गिड़ाते हुए कहा कि इससे पहले कि एसपी साहब मुझे गोली मार दें, आप मुझे गिरफ्तार कर लें. आगे मैं कोई जुर्म नहीं करूंगा.

वहीं दूसरी ओर हापुड़ में मुठभेड़ में मारे जाने के डर से गोली मारकर कार लूटने के आरोपी ने आत्‍मसमर्पण किया और कहा कि साहब मैं 15 हजार का इनामी बदमाश हूं, मुझे गिरफ्तार कर लीजिए.

जबकि कैराना में भी इन दिनों अलग ही माहौल है. कैराना में जहां रंगदारी मांगने का विरोध करने वालों को मौत के घाट उतार दिया जाता था. वहीं अब वहां के बदमाशों में पुलिस के एनकाउंटर का खौफ बैठ गया है. कैराना में संगीन जुर्म में जेल की हवा काट चुके और जमानत पर बाहर निकले दो भाई तख्‍ती लेकर घूमे और कहा कि अब वह अपराध नहीं करेंगे. उन्‍होंने पुलिस से वादा किया कि वे अब अपराध नहीं करेंगे और मेहनत मजदूरी कर परिवार को पालेंगे. दोनों भाई इस संदेश लिखे तख्‍ती को लेकर पूरे कसबे के बाजारों का भ्रमण किया.

पुलिस ने अपनी पीठ थपथपाते हुए ट्व‍िटर पर लिखा कि पुलिस से नहीं जुर्म से डर लगता है साहब.

हालांकि, पुलिस द्वारा किए जा रहे दनादन एनकाउंटर पर सियासत भी गर्म है. इसी बीच यूपी पुलिस द्वारा तेंदुआ को गोली मारने भी समाजवादी पार्टी और कांग्रेस ने व्‍यंग किए और कहा कि नई सरकार में क्‍या जानवरों के भी एनकाउंटर का चलन शुरू हो गया है.

बता दें कि 22 नवंबर को नेशनल ह्यूमन राइट्स कमिशन (NHRC) ने यूपी सरकार को एक नोटिस जारी कर पूछा था कि पिछले छह महीने में 16 लोगों को एनकाउंटर में मारा गया. गुरुवार को यूपी के सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने राज्य विधान परिषद को बताया कि राज्‍य में बदमाशों का खात्‍मा करने के लिए 1200 एनकाउंटर में 40 अपराधियों को मारा गया है. गोरखपुर में एक कार्यक्रम के दौरान सीएम योगी ने कहा कि अपराधियों को जो भाषा समझ आती है, उन्‍हें उसी भाषा में जवाब मिलना चाहिए. जो बंदूक में यकीन रखते हैं, उन्‍हें बंदूक से जवाब मिलना चाहिए.