नई दिल्ली: नीदरलैंड के राजा विलियम एलेक्जेंडर और रानी मैक्सिमा रविवार को पांच दिन के भारत दौरे पर पहुंच गए हैं.राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के दावत पर ये दोनों भारत आए हैं. इस दौरे का लक्ष्य द्विपक्षीय आर्थिक एवं राजनीतिक सहयोग को बढ़ाना है. राजा विलियम और रानी मैक्सिमा ने अपने दौरे के पहले दिन राष्ट्रपति भवन में पीएम मोदी, राष्ट्रपति कोविंद सहित कई गणमान्य लोगों से मुलाकात की. राष्ट्रपति भवन परिसर में उन्होंने सैर भी किया.

उसके बाद मेहमानों ने राजघाट पर महात्मा गांधी को श्रंद्धाजलि अर्पित की और ‘बापू’ को याद किया.

दिन बीतने के बाद राजा विलियम और रानीमैक्सिमा ने भारतीय विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर से मुलाकात की और भारत के साथ अंतराष्ट्रीय संबंधों पर चर्चा कर वक्त बिताया.

नीदरलैंड के राजा का 2013 में राजकाज की बागडोर संभालने के बाद यह पहला भारत दौरा है. नीदरलैंड के राजा तथा महारानी के साथ, वहां की कैबिनेट का एक शिष्टमंडल आया है. दिल्ली में अपने आधिकारिक कार्यक्रम के अलावा नीदरलैंड के नरेश विलियम एलेक्जेंडर एवं महारानी मैक्सिमा मुम्बई और केरल भी जाएंगे. बयान के अनुसार, भारत और नीदरलैंड का द्विपक्षीय कारोबार 12.87 अरब डालर का है.

नीदरलैंड, भारत में पांचवां सबसे बड़ा निवेश करने वाला देश है और साल 2000 से दिसंबर 2017 तक उसने 23 अरब डालर का निवेश किया. नीदरलैंड में भारतीय समुदाय के 2,35,000 लोग हैं. नीदरलैंड के राजा नई दिल्ली में 25वें प्रौद्योगिकी शिखर सम्मेलन में भी हिस्सा लेंगे. इस शिखर सम्मेलन में नीदरलैंड सहयोगी देश है.