नई दिल्ली: क्रिकेटर और पूर्व सांसद कीर्ति आज़ाद को कांग्रेस आलाकमान ने दिल्ली कांग्रेस की कुर्सी सौंपने की तैयारी कर ली है. ऐसी चर्चा है कि जल्द ही कीर्ति आजाद को दिल्ली कांग्रेस प्रदेश का नया अध्यक्ष घोषित कर दिया जाएगा. बता दें कि दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री और तत्कालीन प्रदेश अध्यक्ष शीला दीक्षित का जुलाई में निधन हो जाने के बाद से यह सीट खाली पड़ी है.

कांग्रेस पार्टी से जुड़े सूत्रों की मानें तो दिल्ली कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष के नामों को लेकर कई बार बैठकें हो चुकी हैं, लेकिन स्थिति अब तक साफ नहीं हो पाई है. क्योंकि दिल्ली में कीर्ति आजाद के अलावा पूर्व सांसद संदीप दीक्षित और जय प्रकाश अग्रवाल भी अध्यक्ष की दौड़ में शामिल हैं. इसके चलते कांग्रेस आलाकमान जल्दबाजी में कोई कदम नहीं उठाना चाहता है. हालांकि अब स्थिति साफ हो गई है, क्योंकि कांग्रेस आलाकमान ने कीर्ति आजाद के नाम पर लगभग मुहर लगा दी है, हालांकि अभी तक औपचारिक ऐलान होना बाकी है.

कीर्ति आजाद के नाम पर कुछ लोगों को आपत्ति
दिल्ली कांग्रेस से जुड़े सूत्रों ने बताया कि कीर्ति आजाद के नाम पर पार्टी में कुछ लोगों को आपत्ति थी, इसके चलते उनके नाम के ऐलान में देरी हो रही थी. बीते दिनों कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पार्टी नेताओं को आपसी मतभेद दूर करते हुए दिल्ली विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुटने को कहा. इससे यह साफ हो गया है कि पार्टी में जारी मनमुटाव अब लगभग खत्म हो गया है.

शीला दीक्षित के निधन के बाद से खाली है प्रदेश अध्यक्ष की कुर्सी
बता दें कि दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री और तत्कालीन प्रदेश अध्यक्ष शीला दीक्षित का जुलाई में निधन हो गया था. इसके बाद से दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष का पद खाली है. बीते करीब तीन महीने तक नया अध्यक्ष नहीं मिलने से दिल्ली विधानसभा चुनाव की तैयारियों पर असर पड़ रहा है. ऐसे में आम आदमी पार्टी को बढ़त मिलने की संभावना को देखते हुए कांग्रेस आलाकमान अब नए नाम की घोषणा में देरी नहीं करना चाहता है.