Kisan Andolan: दिल्ली में किसान आंदोलन कर रहे हैं. आज आंदोलन का 21वां दिन है. वहीं, बीजेपी नेताओं को अब ग्रामीण इलाकों में भी किसानों की नाराजगी का सामना करना पड़ रहा है. हरियाणा में इसका खासा असर दिख रहा है. कुरुक्षेत्र से बीजेपी सांसद नायाब सिंह सैनी (BJP MP Nayab Singh Saini) एक गाँव पहुंचे. यहाँ उन्हें बड़े विरोध का सामना करना पड़ा. जिस सामुदायिक केंद्र का उद्घाटन करना था, उस पर किसानों ने काली स्याही फेंक दी. Also Read - Farmers Protest: किसानों और सरकार के बीच नौवें दौर की वार्ता भी रही बेनतीजा, अगली मीटिंग 19 जनवरी को

बताया जा रहा है कि कुरूक्षेत्र से भाजपा सांसद नायब सिंह सैनी मंगलवार को जिले के खुर्दी गांव में कुछ परियोजनाओं की आधारशिला रखने पहुंचे थे. उन्हें सामुदायिक केंद्र का उद्घाटन भी करना था. इस दौरान उन्हें किसानों की नाराजगी का सामना करना पड़ा. सांसद को जिस सामुदायिक केंद्र का उद्घाटन करना था, उसकी शिलापट्टी पर किसानों ने स्याही फेंक दी. नारेबाजी की. Also Read - Kisan Andolan: किसानों और सरकार के बीच वार्ता जारी, कृषि मंत्री ने अन्नदाताओं से की अपने रुख को नरम करने की अपील

सांसद के आने की खबर मिलते ही किसान एकत्रित हो गए और प्रदर्शन करने लगे. कृषि कानूनों को रद्द नहीं करने से नाराज किसानों ने केंद्र के खिलाफ नारे लगाए. हालांकि बाद में प्रदर्शनकारी वहां से चले गए और सांसद ने सभी कार्यक्रमों में हिस्सा लिया. Also Read - Farmers Protest: बैठक में बोले केंद्रीय मंत्री- हमने मानी किसानों की बात, लेकिन किसान नहीं...

नए कृषि कानूनों को लेकर किसान दिल्ली में बड़ा आंदोलन कर रहे हैं. आंदोलन का आज 21वां दिन है. सरकार से कई दौर के बाद भी कोई हल नहीं निकल सका है. किसान कृषि कानूनों (New Farm Laws) को वापस लेने की मांग पर डटे हुए हैं. जबकि सरकार संशोधन की बात कर रही है, लेकिन किसान मानने को तैयार नहीं हैं.

आज इस आंदोलन को लेकर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में अहम सुनवाई होनी है. कोर्ट में सड़क पर आंदोलन को लेकर याचिका दायर हुई थी. इस बीच केंद्र सरकार बार-बार ये दोहरा रही है कि नए कानून किसानों की भलाई के लिए हैं. इससे किसानों को फायदा होगा. विपक्ष किसानों को बहका रहा है.