Farmers Protest: गणतंत्र दिवस पर ट्रैक्टर रैली (Tractor Rally) के दौरान हुई हिंसा के बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) एक्शन में है. योगी आदित्यनाथ के फरमान के बाद गाजियाबाद के जिलाधिकारी (Ghaziabad DM) ने किसानों को धरनास्थल खाली करने का आदेश दिया है. इससे पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी जिलाधिकारियों और पुलिस-प्रशासन को धरना खत्म कराने के निर्देश दिए थे. Also Read - राहुल गांधी ने अनुराग कश्‍यप और तापसी पन्‍नू पर IT Raid को लेकर सरकार पर कसा तंज

बता दें कि गाजीपुर बॉर्डर (Ghazipur Border) पर भारी मात्रा में पुलिस बल को भी तैनात किया गया है. वहीं, बॉर्डर पर लगे किसानों के टेंट को भी हटाने का काम किया जा रहा है. जिला मजिस्ट्रेट अजय शंकर पांडेय सहित वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी एवं पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी मौके पर मौजूद हैं. Also Read - Kisan Andolan: किसान आंदोलन से NHAI के सामने बड़ी चुनौतियां, कई प्रोजेक्ट के काम लटके

धरनास्थल को खाली कराने की जिला प्रशासन के द्वारा पूरी तैयारी की गई है. माना जा रहा है कि आज ही धरनास्थल खाली हो सकता है.

उधर, उत्तर प्रदेश के एडीजी (कानून और व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने कहा कि 26 जनवरी को दिल्ली में हुई हिंसा बेहद दुर्भाग्यपूर्ण थी.

उन्होंने कहा कि 26 जनवरी को हुई दुर्भाग्यपूर्ण घटना के बाद कुछ किसान संगठनों ने स्वेच्छा से चिल्ला बाॅर्डर, दलित प्रेरणा स्थल से आंदोलन वापस ले लिया. बागपत में लोगों को समझाने के बाद उन्होंने रात में धरना खत्म कर दिया. UP गेट पर अभी कुछ लोग हैं, उनकी संख्या काफी कम हुई है.

उधर, भारतीय किसान यूनियन के राकेश टिकैत ने कहा कि अगर पुलिस हमें गिरफ्तार करना चाहे तो कर सकती है. हम इसके लिए तैयार हैं. हमारा आंदोलन शांतिपूर्ण तरीके से जारी रहेगा.