Kisan Andolan Latest Updates: कृषि कानूनों (Farm Laws) को लेकर आंदोलन (Kisan Andolan) कर रहे किसानों से सरकार की 4 जनवरी को फिर से वार्ता है, लेकिन इससे पहले किसानों ने ऐलान किया है कि जब तक कृषि कानून रद्द नहीं होते, तब तक वह डटे रहेंगे. किसानों ने एक और बड़ी घोषणा करते हुए कहा कि 26 जनवरी को किसान परेड (Kisan Parade) निकाली जाएगी.Also Read - सरकार से बात करने के लिए किसानों ने प्रतिनिधि मंडल बनाया, Rakesh Tikait ने कहा- आंदोलन खत्म नहीं होगा

किसान (Farmers) ट्रैक्टरों पर सवार होकर दिल्ली की ओर आगे बढ़ेंगे. किसानों ने इसे ‘किसान परेड’ (Kisan Parade) का नाम दिया है. प्रदर्शनकारी किसान यूनियनों ने कहा कि हमने 26 जनवरी को दिल्ली की ओर एक ट्रैक्टर परेड का आह्वान किया है. किसान नेता दर्शन पाल ने कहा कि राष्ट्रीय ध्वज (National Flag) के साथ 26 जनवरी को ट्रैक्टर परेड को ‘किसान परेड’ कहा जाएगा. Also Read - 21st Century Icon Award: राकेश टिकैत को मिलेगा अवॉर्ड, लंदन में होंगे सम्मानित

किसान नेता अशोक धवले ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि हमारे आंदोलन (Kisan Andolan) के दौरान 50 से अधिक किसान ‘‘शहीद’’ हो गए हैं. हम शांतिपूर्ण थे, शांतिपूर्ण हैं और शांतिपूर्ण रहेंगे, लेकिन तब तक दिल्ली की सीमाओं पर डटे रहेंगे, जब तक कि नये कृषि कानूनों को निरस्त नहीं किया जाता. Also Read - Kangana Ranaut: पंजाब में किसानों ने कंगना रनौत को घेरा, एक्ट्रेस ने कहा- पुलिस न होती तो ये लोग मुझे मार देते

स्वराज इंडिया प्रमुख योगेंद्र यादव (Yogendra Yadav) ने कहा कि यह ‘‘कोरा झूठ’’ है कि सरकार ने किसानों की 50 प्रतिशत मांगें स्वीकार कर ली हैं. हमें अभी तक कागज पर कुछ नहीं मिला है.