Kisan Andolan: किसानों के आंदोलन को एक महीना पूरा हो गया है. किसान अपनी मांगों पर अड़े हैं. सरकार बातचीत से हल तलाशने की कोशिश में है. आज किसानों से सरकार बातचीत कर सकती है. वहीं, विपक्ष केंद्र सरकार पर हमलावर है. राहुल गांधी केंद्र सरकार पर तीखा हमला कर चुके हैं. महाराष्ट्र कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष और राज्य सरकार में मंत्री बाला साहेब थोराट ने कहा कि केंद्र के नए कृषि कानूनों के खिलाफ पिछले कई दिनों से दिल्ली में हजारों किसान कड़ाके की ठंड में विरोध-प्रदर्शन कर रहे हैं लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपनी सरकार की योजनाओं महत्व बताने करने में व्यस्त हैं. Also Read - Kisan Andolan: कृषि कानूनों पर सुप्रीम कोर्ट द्वारा गठित समिति की पहली बैठक कल

बाला साहेब थोराट ने कहा,”किसान मांग कर रहे हैं कि नए कृषि कानूनों को खत्म किया जाए, लेकिन प्रधानमंत्री मोदी प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना जैसी अपनी योजनाओं का महत्व दिखाने में व्यस्त हैं. इसके अलावा किसानों को 2,000 रुपये की मामूली रकम दी जा रही है जबकि उद्योगपति मित्रों को भारी लाभ मिल रहा है. ” Also Read - Cow Drinks Liquor Viral News: पानी समझकर शराब पी गईं गायें, फिर जो हुआ उसे जान दंग रह गए लोग

कांग्रेस नेता ने आरोप लगाया कि केंद्र प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना के लिए सालाना 54,000 करोड़ रुपये उधार लेता है और किसान को सालाना 6,000 रुपये मिलते हैं, जो एक दिन में 17 रुपये होते हैं, लेकिन यही सरकार 2015 से 2019 के बीच उद्योगपतियों का 7,94,354 करोड़ रुपये का ऋण माफ कर देती है. Also Read - ट्रैक्टर रैली को लेकर बहस पर किसानों ने कहा- रैली निकालना हमारा अधिकार, हज़ारों लोग इसमें शामिल होंगे

थोराट ने कहा कि मोदी सरकार ने ईंधन, रसोई गैस आदि की कीमतों में भी वृद्धि की है, इन सभी ने आम आदमी को काफी प्रभावित किया है. बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को एक कार्यक्रम में नौ करोड़ किसानों को प्रधानमंत्री-किसान योजना के तहत 18,000 करोड़ रुपये जारी किए.