Kisan Andolan: केंद्र सरकार के तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का आंदोलन जारी है. इन सबके बीच भारतीय किसान यूनियन (BKU) के राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) ने कहा कि पिछले साल सरकार द्वारा पारित तीन कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसान 14 और 15 अगस्त को ट्रैक्टरों से गाजीपुर सीमा पर जाएंगे जहां वे स्वतंत्रता दिवस पर झंडा फहराएंगे. इसके अलावा किसान नेता ने अपने आंदोलन को दूसरे राज्यों तक बढ़ाने की बात भी की है.Also Read - यूपी में ट्रैक्टर ट्रॉली से यात्रा पर रोक, राकेश टिकैत बोले- फैसला किसान विरोधी, दुर्घटना के बाद बस ट्रेन बंद क्यों नहीं करते?

उन्होंने कहा कि दो जिलों से दिल्ली के लिए ट्रैक्टर जाएंगे. टिकैत ने फिर दोहराया कि हमने 26 जनवरी को तिरंगा झंडा नहीं हटाया था. इस दौरान टिकैत ने फिर कहा कि जब तक कृषि कानूनों को वापस नहीं लिया जाता है, तब तक उनका आंदोलन चलता रहेगा. Also Read - किसानों का 26 नवंबर को देशव्यापी प्रदर्शन, राकेश टिकैत बोले- केंद्रीय मंत्री की बर्खास्त कराकर रहेंगे

इस मौके पर राकेश टिकैत ने कहा, 8 महीने आंदोलन करने के बाद संयुक्त मोर्चा ने फैसला किया है कि हम उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, पंजाब और पूरे देश में जाकर किसानों से अपनी बात रखेंगे और सरकार की नीति व काम को लेकर बात करेंगे. साथ ही 5 सितंबर को मुजफ्फरनगर में बड़ी पंचायत होगी. Also Read - कार्यकाल पूरा होने के बाद क्या RLD में शामिल होंगे राज्यपाल सत्यपाल मलिक? जानें क्या कहा...

उन्होंने कहा कि लखनऊ को भी दिल्ली बनाया जाएगा जिस तरह दिल्ली में चारों तरफ के रास्ते सील हैं, ऐसे ही सील होंगे. हम इसकी तैयारी करेंगे.

टिकैत ने कहा कि आंदोलन आज से शुरू हो चुका है. 5 सितंबर को बड़ी पंचायत करेंगे. वहां से बड़ी बैठकों की घोषणा होगी. पहले पूरे प्रदेश में हम 18 बड़ी पंचायतें करेंगे उसके बाद ज़िलों में छोटी बैठकें करेंगे.

(इनपुट: ANI)