Kisan Andolan: केंद्र सरकार के तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का आंदोलन जारी है. इन सबके बीच भारतीय किसान यूनियन (BKU) के राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) ने कहा कि पिछले साल सरकार द्वारा पारित तीन कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसान 14 और 15 अगस्त को ट्रैक्टरों से गाजीपुर सीमा पर जाएंगे जहां वे स्वतंत्रता दिवस पर झंडा फहराएंगे. इसके अलावा किसान नेता ने अपने आंदोलन को दूसरे राज्यों तक बढ़ाने की बात भी की है.Also Read - Bharat Bandh: संयुक्त किसान मोर्चा ने लोगों से 27 सितंबर को 'भारत बंद' में शामिल होने का अनुरोध किया

उन्होंने कहा कि दो जिलों से दिल्ली के लिए ट्रैक्टर जाएंगे. टिकैत ने फिर दोहराया कि हमने 26 जनवरी को तिरंगा झंडा नहीं हटाया था. इस दौरान टिकैत ने फिर कहा कि जब तक कृषि कानूनों को वापस नहीं लिया जाता है, तब तक उनका आंदोलन चलता रहेगा. Also Read - Farmers Protest: तीन कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के आंदोलन के 300 दिन हुए पूरे

इस मौके पर राकेश टिकैत ने कहा, 8 महीने आंदोलन करने के बाद संयुक्त मोर्चा ने फैसला किया है कि हम उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, पंजाब और पूरे देश में जाकर किसानों से अपनी बात रखेंगे और सरकार की नीति व काम को लेकर बात करेंगे. साथ ही 5 सितंबर को मुजफ्फरनगर में बड़ी पंचायत होगी. Also Read - Punjab: सीएम बनते ही एक्शन में चरणजीत सिंह चन्नी, केंद्र से तीनों कृषि कानून वापस लेने की मांग की

उन्होंने कहा कि लखनऊ को भी दिल्ली बनाया जाएगा जिस तरह दिल्ली में चारों तरफ के रास्ते सील हैं, ऐसे ही सील होंगे. हम इसकी तैयारी करेंगे.

टिकैत ने कहा कि आंदोलन आज से शुरू हो चुका है. 5 सितंबर को बड़ी पंचायत करेंगे. वहां से बड़ी बैठकों की घोषणा होगी. पहले पूरे प्रदेश में हम 18 बड़ी पंचायतें करेंगे उसके बाद ज़िलों में छोटी बैठकें करेंगे.

(इनपुट: ANI)