Kisan Andolan: किसान आंदोलन का आज 20वां दिन है. किसान कृषि विधेयकों (New Farm Laws) के वापस लिए जाने की मांग पर अड़े हैं. आज पीएम मोदी किसानों से मिल सकते हैं. इस बीच केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने कृषि कानूनों और किसानों को लेकर कई बातें कही हैं. नितिन गडकरी ने कृषि कानूनों का समर्थन किया है. नितिन गडकरी ने कहा कि हम किसानों के सुझाव मानने को तैयार हैं.Also Read - मेघालय के राज्‍यपाल सत्यपाल मलिक का बयान, किसानों की नहीं सुनी तो यह सरकार दोबारा नहीं आएगी

अन्ना हजारे (Anna Hazare) के किसानों के समर्थन के ऐलान पर केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने कहा कि मुझे नहीं लगता है कि अन्ना हजारे किसानों के समर्थन में आंदोलन में पहुंचेंगे. हमने किसानों के खिलाफ कुछ गलत नहीं किया है. किसान जो भी फसल करेंगे, उसे वह मंडी और व्यापारियों के साथ ही कहीं भी बेच सकते हैं. Also Read - Rail Roko Andolan Today: पंजाब-हरियाणा में ट्रेनों का परिचालन बाधित, लखनऊ में लगाई गई है धारा 144, LIVE Updates

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि किसानों को आकर समझना चाहिए. हमारी सरकार किसानों के लिए समर्पित है और किसानों के सुझाव भी सुनने को तैयार है. इस सरकार में किसानों के साथ कोई अन्याय नहीं हो सकता है. इसके साथ ही केंद्रीय मंत्री ने कहा कि कुछ लोग हैं जो किसानों को बहकाने की कोशिश कर रहे हैं. ये गलत है. Also Read - Sindhu Border Lynching Case: सोनीपत कोर्ट ने तीन आरोपियों को 6 दिन की पुलिस कस्‍टडी में भेजा

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि किसानों को पहले इन तीनों कानूनों को समझने की कोशिश करनी चाहिए. अगर किसान और सरकार के बीच कोई बातचीत नहीं होगी तो फिर विवाद होंगे. बातचीत से सभी समस्याओं को सुलझाया जा सकता है. किसानों को न्याय मिलेगा. हम किसानों के फायदे के लिए ही काम कर रहे हैं. अभी भी सरकार कोशिश में है कि किसानों से बातचीत हो और इस गतिरोध को खत्म किया जाए.