नई दिल्ली: किसान बचाओ यात्रा के दौरान पंजाब से हरियाणा बॉर्डर पहुंचे राहुल गांधी को रोक लिया गया. इससे हरियाणा बॉर्डर पर टकराव की स्थिति बन गई. इसके बाद राहुल गांधी ने धरने पर बैठने की बात कहते हुए कहा कि उन्हें जब हरियाणा में घुसने नहीं दिया जायेगा, वह बॉर्डर पर बैठे रहेंगे. चाहें इसमें कितने भी घंटे लग जाएँ. Also Read - ED ने पंजाब के सीएम अमरिंदर सिंह के बेटे को भेजा नोटिस, बेनामी विदेशी संपत्ति मामले में होगी पूछताछ

हरियाणा बॉर्डर पर हरियाणा पुलिस तैनात थी. हरियाणा पुलिस से कांग्रेस कार्यकर्ताओं की हलकी खींचतान भी हुई. बहुत अधिक टकराव की स्थिति नहीं बनी. राहुल गांधी ने इस दौरान कहा कि उन्हें हरियाणा में घुसने से रोका जा रहा है. जब उन्हें हरियाणा जाने की अनुमति नहीं मिल जाती, तब तक वह वहीं ट्रैक्टर पर बैठे रहेंगे. Also Read - शिवराज चौहान ने पूछा- क्या राहुल गांधी की कांग्रेस अलग है और कमलनाथ की कांग्रेस अलग?

स्थिति को देखते हुए राहुल गांधी को तीन ट्रैक्टरों के साथ हरियाणा जाने की अनुमति दे दी. राहुल गांधी तीन ट्रैक्टर के साथ हरियाणा में दाखिल हो गए. इससे वैसी स्थिति तनावपूर्ण नहीं हो पाई, जैसी यूपी के हाथरस में हुई थी. राहुल गांधी हरियाणा में किसान बचाओ यात्रा के तहत रैलियां करेंगे. राहुल नए कृषि कानूनों के खिलाफ यात्रा कर रहे हैं. Also Read - RSS प्रमुख के चीन को लेकर दिये बयान पर आया राहुल गांधी का रिएक्शन, कहा- 'भागवत सच जानते हैं लेकिन...' 

इससे पहले पंजाब में राहुल गांधी ने कहा कि नए कृषि क़ानून किसानों को बर्बाद कर देंगे. उन्होंने ये भी वादा किया है कि कांग्रेस की सरकार आते ही इन कानूनों को ख़त्म कर दिया जायेगा. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने उत्तर प्रदेश के हाथरस मामले और कृषि बिल सहित कई मुद्दों पर केंद्र सरकार पर तंज कसा और आरोप लगाया कि केंद्र सरकार को आमजन की पीड़ा से कोई लेना-देना नहीं है.