नई दिल्ली : उत्तर प्रदेश के गाजीपुर से सांसद रहे और पीएम मोदी की कैबिनेट के प्रथम कार्यकाल में टेलीकॉम मंत्री और फिर रेल राज्यमंत्री रहे मनोज सिन्हा को जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल गिरीश चंद्र मुर्मू के इस्तीफे के बाद राज्य का उपराज्यपाल नियुक्त किया गया है. मनोज सिन्हा पूर्वी उत्तर प्रदेश में बीजेपी के वरिष्ठ नेता रहे हैं, हालांकि 2019 लोकसभा चुनाव में गाजीपुर से उन्हें बीएसपी के अफजाल अंसारी ने चुनाव हरा दिया था. अब केंद्र की मोदी सरकार ने उन्हें नई जिम्मेदारी दी है. Also Read - Filmcity in Kashmir!: UP में Filmcity बनाए जाने पर शिवसेना का तंज- 'कश्मीर में फिल्मसिटी बना कर दिखाए मोदी सरकार'

इसकी वजह ये बतायी जा रही है कि केंद्र सरकार जम्मू-कश्मीर में चुनाव करवाना चाहती है जिसके लिए किसी राजनीतिक व्यक्ति की नियुक्ति बतौर उपराज्यपाल के तौर पर चाहती थी, जो कि तमाम राजनीतिक दलों से बात करते हुए जम्मू-कश्मीर में आगे शांति बहाल कर सके और आने वाले समय मे वहां चुनाव हो सके. Also Read - Jammu & Kashmir: आतंकवादियों ने जम्मू-कश्मीर के बडगाम में बीडीसी सदस्य की गोली मारकर की हत्या

कहा जा रहा है कि आगामी चुनाव की तैयारी को लेकर ही केंद्र सरकार ने मनोज सिन्हा पर भरोसा जताया है और इसकी वजह से ही जीसी मुर्मू ने अपने पद से इस्तीफा दिया है. हालांकि मुर्मू भी पूर्व प्रसाशनिक अधिकारी रहे हैं, लेकिन केंद्र ने अब मनोज सिन्हा की नियुक्ति उपराज्यपाल के पद पर की है. Also Read - कश्मीर: नदियों में बंकर बना रहे आतंकी, सेना से बचने को अपना रहे ऐसे-ऐसे तरीके

बता दे कि जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल गिरीश चंद्र मुर्मू के इस्तीफे के बाद राष्ट्रपति सचिवालय ने गुरुवार की सुबह बताया कि जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल गिरीश चंद्र मुर्मू का इस्तीफा स्वीकार कर लिया गया है. ज्ञात हो कि 5 अगस्त की शाम को ही गिरीश चंद्र मुर्मू ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था. इसी दिन जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटे एक साल पूरा हुआ है.

जानिए कौन हैं मनोज सिन्हा?

मनोज सिन्हा पूर्वी उत्तर प्रदेश में बीजेपी के वरिष्ठ नेता हैं.साल 2017 के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में जब बीजेपी को बड़ी जीत मिली थी, तब मनोज सिन्हा ही मुख्यमंत्री पद की रेस में सबसे आगे थे. माना जा रहा था कि सिन्हा ही मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे. लेकिन पार्टी की ओर से योगी आदित्यनाथ को मुख्यमंत्री बना दिया गया. अब केंद्र सरकार ने मनोज सिन्हा को जम्मू-कश्मीर में बड़ी जिम्मेदारी दी है.

सिन्हा ने 2019 में गाजीपुर से लोकसभा चुनाव लड़ा था लेकिन कड़े मुकाबले में उन्हें हार का सामना करना पड़ा था. रेल राज्यमंत्री रहने के दौरान उनके विकास कार्यों की खूब चर्चा हुई थी. उत्तर प्रदेश के 2017 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी को भारी जीत के बाद मनोज सिन्हा मुख्यमंत्री पद की रेस में सबसे आगे थे. हालांकि, पार्टी की ओर से योगी आदित्यनाथ का नाम आगे बढ़ाया गया. केंद्र सरकार ने सिन्हा को फिर से बड़ी जिम्मेदारी दी है.