नई दिल्ली: संसद में राजग सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर सरकार की ओर से बोलने वाले पहले वक्ता राकेश सिंह ने मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस पर जमकर आरोप लगाए. उन्होंने कहा कि कांग्रेस शासनकाल में घोटालों से देश का सिर शर्म से झुक गया. जबलपुर से तीसरी बार सांसद चुने गए राकेश सिंह मध्य प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष भी हैं. उन्हें इसी साल अप्रैल महीने में इस पद पर नियुक्त किया गया था.

राकेश सिंह पहली बार 2004 में सांसद चुने गए थे. अपने लोकसभा क्षेत्र में लोकप्रिय सिंह को अच्छा संगठक माना जाता है. इसीलिए, राज्य में होने वाले विधानसभा चुनावों के मद्देनजर प्रदेश भाजपा का अध्यक्ष बनाया गया. इससे पहले 2016 में उन्हें लोकसभा में पार्टी का मुख्य सचेतक बनाया गया था. वे कोयला और लोहा के लिए बनी संसद की स्थायी समिति के अध्यक्ष हैं. इसके अलावा कई अन्य संसदीय समितियों के भी वे सदस्य हैं. उन्हें आम जनता से जुड़े मुद्दों पर आंदोलन खड़ा करने के लिए जाना जाता है.

राकेश सिंह मध्य प्रदेश के राजनीतिक मानचित्र को अच्छी तरह से समझते हैं. वे 2010 में एमपी बीजेपी के महामंत्री भी रहे हैं. 55 साल के राकेश सिंह छात्र जीवन से ही राजनीति से जुड़े रहे हैं. उन्होंने बी.एससी. की शिक्षा गवर्नमेंट मॉडल साइंस कॉलेज, जबलपुर से ग्रहण की. साल 1978 में महाविद्यालय की कार्यकारिणी के सदस्य निर्वाचित हुए. साल 1979 में साइंस कॉलेज में विश्वविद्यालय प्रतिनिधि चुने गए. साल 2000 में जबलपुर जिला बीजेपी अध्‍यक्ष बने. साल 2004 में 14वीं लोक सभा सदस्‍य निर्वाचित होकर विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, पर्यावरण और वन संबंधी स्थायी समिति सदस्‍य, परामर्शदात्री समिति, पर्यटन मंत्रालय में विभिन्न पदों पर रहे.