कोलकाता: ऑल इंडिया माइनॉरटी फोरम ने सोमवार को कोलकाता उच्च न्यायालय में एक जनहित याचिका (पीआईएल) दायर करके उत्तरी दिनाजपुर जिले में दो छात्रों की हत्या के विरोध में भाजपा द्वारा बुधवार को बुलाए गए पश्चिम बंगाल बंद को वापस लेने का निर्देश देने की मांग की. Also Read - मैं पार्टी में जाति, धर्म आधारित प्रकोष्ठ के पक्ष में नहीं हूं: नितिन गडकरी

Also Read - हैदराबाद का यह भाग्‍यलक्ष्‍मी मंदिर नगर निगम की चुनावी जंग के बीच क्‍यों बना सुर्खियों का केंद्र

राहुल से मुलाकात से पहले पश्चिम बंगाल कांग्रेस में दो फाड़, एक तृणमूल तो दूसरा चाहता है माकपा का साथ Also Read - School Reopen in West Bengal Latest Update: पश्चिम बंगाल में कब खुलेंगे कॉलेज, विश्वविद्यालय? शिक्षा मंत्री ने दिया बड़ा बयान

तृणूमल कांग्रेस के सांसद और वकील इदरीस अली ने मुख्य न्यायाधीश जे भट्टाचार्य की अध्यक्षता वाली एक खंडपीठ के समक्ष भाजपा के बंद के आह्वान पर रोक लगाने की मांग की. शिक्षकों की नियुक्ति को लेकर एक प्रदर्शन के दौरान पुलिस के साथ एक संघर्ष में उत्तरी दिनाजपुर जिले के इस्लामपुर इलाके में एक उच्च विद्यालय के दो छात्रों की मौत के विरोध में भाजपा ने 12 घंटे के बंद का आह्वान किया है.

यूपी: कैबिनेट मंत्री की सलाह- देश के लिए महंगाई झेलें लोग, महाराणा प्रताप ने भी खाई थी घास की रोटी

याचिका दायर करते हुए अली ने बुधवार को बंद आहूत होने के कारण मामले पर शीघ्र सुनवाई करने का अनुरोध किया. उन्होंने याचिका में दलील दी है कि नागरिकों को जबर्दस्ती नहीं रोका जा सकता. खंडपीठ में न्यायाधीश अरिजीत बनर्जी भी शामिल हैं. खंडपीठ ने कहा कि मामले को सुनवाई के लिए मंगलवार को सूचीबद्ध किया गया है.