कोलकाता: कोरोनावायरस के कारण लागू लॉकडाउन के चलते लगभग 100 दिनों से बंद कोलकाता का प्रसिद्ध कालीघाट मंदिर श्रद्धालुओं के लिए अंतत: बुधवार को खोल दिया गया. मंदिर के कपाट सुबह छह बजे खोल दिए गए, जहां भक्तों ने कड़े दिशा-निर्देशों का पालन करके दर्शन किए. कालीघाट मंदिर के सूत्रों के अनुसार, श्रद्धालुओं को मंदिर में प्रवेश करने के लिए थर्मल स्क्रीनिंग के बाद सैनिटाइजिंग टनल से गुजरना होगा. मंदिर के गर्भगृह में प्रवेश वर्जित रहेगा.Also Read - सरकार ने जरूरी 5 मेडिकल उपकरणों पर व्यापार मार्जिन सीमित किया, करीब 620 प्रोडक्‍ट के दाम घटे

मंदिर दो शिफ्ट में खुलेगा. सुबह 6:00 बजे से दोपहर 12:00 बजे तक और फिर शाम 4:00 बजे से 7:00 बजे तक. एक बार में केवल 10 लोगों को मंदिर में प्रवेश की अनुमति दी जाएगी. सूत्रों ने कहा कि नए नियम अनुसार सभी श्रद्धालुओं को मास्क पहनना अनिवार्य है, कोई भी श्रद्धालु मंदिर के देवता को नहीं छू सकता और न ही परिसर के अंदर प्रसाद बांट सकता है. Also Read - Rashtrapati Bhavan: एक अगस्त से आम लोगों के लिए खुल जाएगा राष्ट्रपति भवन, जानें टाइमिंग

कालीघाट एक शक्तिपीठ है. मान्यता के अनुसार मां सती के दाये पैर की कुछ अंगुलिया इसी जगह गिरी थीं. आज यह जगह काली भक्तों के लिए सबसे बड़ा मंदिर है. पश्चिम बंगाल के अलावा देश के कोने-कोने से बड़ी संख्या में यहां श्रद्धालु मां काली के दर्शन-पूजन के लिए आते हैं. Also Read - Lockdown in Bangladesh: कोरोना के डेल्टा वेरिएंट ने बांग्लादेश में मचाई तबाही, लगा संपूर्ण लॉकडाउन