नई दिल्ली। कुलभूषण जाधव मामले में आज विदेश मंत्रालय ने कहा की उन्होंने 15वीं बार पाकिस्तान से कहा है कि वह जाधव को राजनयिक मदद मुहैया कराए. मंत्रालय ने साथ ही कुलभूषण जाधव के खिलाफ मुकदमे की कार्यवाहियों के साथ-साथ इस मामले में अपील की प्रक्रिया का पूरा ब्योरा आधिकारिक तौर पर मांगा है.

बता दें की भारत द्वारा कई बार जाधव की राजनयिक मदद मुहैया कराने के अनुरोध पर पाकिस्तान ने ध्यान नहीं दिया है. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गोपाल बागले ने कहा, भारत ने पाकिस्तान से जाधव को राजनयिक मदद और उनके खिलाफ मुकदमे की कार्यवाहियों का ब्योरा माँगा है और इसपर पाकिस्तान की आधिकारिक प्रतिक्रिया का इंतजार है. यह भी पढ़ें: पाकिस्तान ने ये सात आरोप लगाने बाद जाधव को सुनाई मौत की सजा, भारत का 14वां प्रयास भी विफल

उन्होंने कहा, ‘‘हमें इस बारे में कुछ नहीं पता कि पाकिस्तान में जाधव को कहां रखा गया है या उनकी हालत कैसी है.’’ जाधव की मौत की सजा के सिलसिले में कल भारत ने पाकिस्तान के उच्चायुक्त को यहां तलब किया था और भारतीय नौसेना के सेवानिवृत अधिकारी को राजनयिक मदद मुहैया कराने की मांग फिर से रखी थी.

बता दें कि, पाकिस्तान की एक सैन्य अदालत ने जासूसी के आरोप में जाधव को मौत की सजा सुनाई है. इस फैसले के खिलाफ भारत ने कड़े रुख इख़्तियार कर लिया है.