नई दिल्ली। राज्यसभा के लिए तीन उम्मीदवारों को टिकट देने के ऐलान के साथ ही आज आम आदमी पार्टी में घमासान का नया दौर शुरू हो गया. दरकिनार किए गए वरिष्ठ नेता कुमार विश्वास ने इसे लेकर अरविंद केजरीवाल पर खुलकर हमला बोला. विश्वास ने कहा कि मुझे सच बोलने का दंड मिला है. आप में केजरीवाल से असहमत रहकर टिक पाना असंभव है. पार्टी के उम्मीदवार संजय सिंह जहां पार्टी में इसकी शुरुआत से ही जुड़े रहे हैं वहीं सुशील गुप्ता दिल्ली स्थित एक कारोबारी हैं जबकि एन डी गुप्ता पेशे से चार्टर्ड अकाउंटेंट हैं. Also Read - Delhi Board of School Education: अगले शैक्षणिक वर्ष से दिल्ली का अपना होगा एजुकेशन बोर्ड, केजरीवाल ने इसको लेकर कही ये बात

आज हुई पीएसी की बैठक में कुमार विश्नास को बुलाया ही नहीं गया था. संजय कुमार, एनडी गुप्ता और सुशील गुप्ता को राज्यसभा का टिकट दिए जाने के फैसले के बाद विश्वास ने केजरीवाल को निशाने पर लिया. विश्वास ने अरविंद केजरीवाल और दोनों गुप्ता पर जमकर तंज कसे. 

AAP ने किया राज्यसभा के लिए 3 उम्मीदवारों के नामों का ऐलान, विश्वास-आशुतोष का पत्ता कटा

AAP ने किया राज्यसभा के लिए 3 उम्मीदवारों के नामों का ऐलान, विश्वास-आशुतोष का पत्ता कटा

विश्वास ने कहा, मैंने जो जो सच बोला आज उसका पुरस्कार दंड स्वरूप मुझे दिया गया. अरविंद ने मुझे मुस्कुराते हुए कहा था कि सर जी आपको मारेंगे पर शहीद नहीं होने देंगे. मैं उनको बधाई देता हूं कि मैं अपनी शहादत स्वीकार करता हूं. मैं जानता हूं आपकी इच्छा के बिना हमारे दल में कुछ होता नहीं है. आपसे असहमत रहकर वहां जीवित रहना मुश्किल है. मैं पार्टी, आंदोलन का हिस्सा हूं तो ये अनुरोध करता हूं कि शहीद तो कर दिया पर इस शव से छेड़छाड़ ना करें. ये तो युद्ध के नियमों के खिलाफ है.

विश्वास ने कहा कि पिछले डेढ़ साल में, मैंने सच बोला फिर चाहे वह अरविंद केजरीवाल का फैसला हो या सर्जिकल स्ट्राइक, टिकट वितरण में अनियमितता, पंजाब में चरमपंथियों के प्रति नरमी या जेएनयू घटना जैसे मुद्दे हों. सच बोलने की सजा के तौर पर मुझे इसका इनाम दिया गया. मुझे लगता है कि यह एक सच्चे क्रांतिकारी, कवि और दोस्त की नैतिक जीत है. एनडी गुप्ता और सुशील गुप्ता को राज्यसभा उम्मीदवार बनाने के लिए केजरीवाल पर निशाना साधते हुए विश्वास ने कहा कि वह आप कार्यकर्ताओं को मुबारकबाद देना चाहेंगे कि महान क्रांतिकारियों को चुनने में उनकी आवाज को सुना गया.

दिल्ली की तीन राज्यसभा सीटों के लिए 16 जनवरी को चुनाव होंगे. 70 सदस्यों वाली दिल्ली विधानसभा में प्रचंड बहुमत रखने वाली आप का तीनों सीटों पर जीतना तय है. तीनों राज्यसभा सीटों के लिये नामांकन भरने की आखिरी तारीख पांच जनवरी है.