नई दिल्ली/बेंगलुरु. कर्नाटक चुनाव के नतीजे आने के बाद वहां सियासी उठापटक मचा हुआ है. बीजेपी के येदियुरप्पा के शपथ लेने फिर शनिवार को इस्तीफा देने के बाद वहां कांग्रेस-जेडीएस का सीएम बनने जा रहा है. कांग्रेस ने जेडीएस को समर्थन दे दिया है और कुमार स्वामी बुधवार को सीएम पद की शपथ लेंगे. इस बीच बताया जा रहा है कि कांग्रेस और जेडीएस के गठबंधन वाली सरकार में मंत्रीमंडल की क्या स्थिति होगी, इस पर कुमार स्वामी कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात करेंगे. इस बीच सूत्रों के अनुसार, ये कहा जा रहा है कि वर्तमान में कर्नाटक कांग्रेस अध्यक्ष जी परमेश्वर को डिप्टी सीएम बनाया जा सकता है. Also Read - क्या ज्योतिरादित्य सिंधिया की BJP से कांग्रेस में वापसी होगी, राहुल गांधी ने आखिर क्यों कही ये बात?

इधर जेडीएस नेता कुमारस्वामी ने कहा है कि वह सोमवार की सुबह दिल्ली जा रहे हैं. इस दौरान उनकी राहुल गांधी और सोनिया गांधी से मीटिंग है. उन्होंने दावा किया कि वह सीएम बनने के 24 के अंदर बहुमत साबित कर देंगे. बता दें कि कांग्रेस के पास 78 और जेडीएस के पास 38 विधायक हैं. ऐसे में दोनों मिलकर 116 तक पहुंच जाते हैं जो कि बहुमत से 4 ज्यादा है. वहीं दो निर्दलीय विधायक भी कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन के साथ हैं. Also Read - राहुल गांधी ने कहा- ज्योतिरादित्य की कांग्रेस में एक हैसियत थी, अब BJP में दर्शकों की तरह पीछे बैठते हैं

कुमारस्वामी ने गवर्नर से मीटिंग के बाद कहा कि गवर्नर ने 15 दिन में बहुमत साबित करने के लिए कहा है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस-जेडीएस की सरकार बनने जा रही है. गठबंधन की सरकार ने चुनाव में जो वायदे किए हैं, इसके लिए वह एक कोऑर्डिनेश कमेटी बनाएगी, जो कॉमन मिनिमम प्रोग्राम बनाएगी. Also Read - राहुल गांधी ने अनुराग कश्‍यप और तापसी पन्‍नू पर IT Raid को लेकर सरकार पर कसा तंज

बता दें कि यह पहला मौका नहीं है जब कुमारस्वामी प्रधानमंत्री बनेंगे. पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवे गौड़ा के तीसरे नंबर के बेटे कुमारस्वामी बीजेपी-जेडीएस गठबंधन से बनी सरकार में भी मुख्यमंत्री बने थे. इस दौरान उनका कार्यकाल 20 महीने का था.