नई दिल्ली: लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ हुई हिंसा में 20 भारतीय जवान शहीद हो गए. इनमें से एक बिहार के जवान कुंदन कुमार भी हैं. शहीद जवान कुंदन के घर में मातम पसरा है. घर के लोग विलाप कर रहे हैं. कई लोगों के रोते-रोते आंसू सूख गए हैं. जो भी परिजनों को इस हाल में देख रहा है वह भी खुद को भावुक होने से नहीं रोक पा रहा है. Also Read - सुशांत के बाद बिहार के इस शख्स ने चांद पर खरीदी जमीन, कहा- प्रक्रिया थी बहुत मुश्किल

इस बीच शहीद जवान कुंदन कुमार के पिता ने कहा कि उन्हें अपने बेटे पर गर्व है. पिता ने कहा ‘मेरे बेटे ने देश की सेवा करते हुए सर्वोच्च बलिदान दिया है. इसके लिए उन्हें गर्व है.’ पिता ने ये भी कहा कि उनके दो नाती हैं. और इन्हें भी वह भारतीय सेना में भेजना चाहते हैं. वह चाहते हैं कि उनके नाती भी सेना में जाएँ और देश की सेवा में करें. Also Read - Lockdown in Bihar: बिहार में 16 जुलाई से फिर लागू होगा टोटल लॉकडाउन, जानिए क्या खुला रहेगा और क्या रहेगा बंद

बता दें कि लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी सेना से झड़प हुई थी. इसमें बीस जवानों की जान गई थी. भारत के 20 जवान शहीद हुए थे. इस घटना पर भारत ने कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की है. पीएम मोदी ने कहा की हम कभी उकसाते नहीं हैं. अगर हमारे साथ ऐसा किया जायेगा तो इसका यथोचित जवाब देने में हम सक्षम हैं. वहीं, भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा कि चीन ने ये सब सोची समझी साजिश के तहत किया. और ज़मीनी हालात बदलने की कोशिश की. चीन अपनी भूल सुधारे.