नई दिल्ली: भारत और चीन के शीर्ष सैन्य कमांडर एक बार फिर सोमवार को मोल्दो में बैठक करेंगे, जिसमें सीमा विवाद पर, खास तौर से पूर्वी लद्दाख की पैंगोंग झील इलाके पर चर्चा होगी. रक्षा सूत्रों के मुताबिक, इस बार की बैठक में विदेश मंत्रालय के संयुक्त सचिव (पूर्वी एशिया) नवीन श्रीवास्तव भी भारतीय प्रतिनिधिमंडल सदस्य के रूप में शामिल होंगे. प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व 14वें कोर के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल हरिंदर सिंह करेंगे. दो मेजर जनरल अभिजीत बापट और पदम शेखावत भी उनके साथ बैठक में हिस्सा लेंगे.Also Read - गलवान वैली में चीनी सेना से झड़प के नायक कर्नल बी संतोष बाबू मरणोपरांत महावीर चक्र से सम्मानित

बता दें कि इससे पहले कई बार भारतीय सेना के शीर्ष अधिकारियों और चीनी सेना के शीर्ष अधिकारियों के बीच बैठक चुशूल और मोल्डो में आयोजित की जा चुकी है. वहीं सीमा विवाद मामले पर भारतीय रक्षा मंत्री और विदेश मंत्री चीनी रक्षा मंत्री और विदेश मंत्री से पहले ही मुलाकात कर चुके हैं, लेकिन अभी तक सीमा पर बने तनाव का समाधान नहीं निकाला जा सका है. हालांकि 5 बातों पर सहमति जरूर बनी है. Also Read - Gallantry Awards: भारतीय सेना के जांबाज अभिनंदन को 'वीर चक्र' मिला, पाकिस्तानी लड़ाकू विमान को मार गिराया था

बता दें कि बीती 29-30 अगस्त की रात के बाद से चीनी सेना ज्यादा बौखलाई हुई है. क्योंकि इसी रात चीनी सेना ने पैंगोग लेक के दक्षिणी क्षेत्र में कुछ पहाड़ियों पर कब्जा करने की कोशिश की थी. लेकिन भारतीय सेना के जवानों में करारा जवाब देते हुए उन्हें खदेड़ दिया और चोटियों पर कब्जा जमा लिया. जिस क्षेत्र में भारतीय सेना ने कब्जा किया वह एक रणनीतिक क्षेत्र है. ऐसे में अब पैंगोंग इलाके में भारतीय सेना मजबूत स्थिति में है. Also Read - पंजाब: पठानकोट में भारतीय सेना के कैंप के पास ग्रेनेड ब्लास्ट, पूरे शहर में अलर्ट जारी

(इनपुट-आईएएनएस)