Corona Vaccine: आंध्र प्रदेश में कडप्पा जिले के पुलिवेंदुला में कुछ दिन पहले ही कोविड-19 वैक्सीन लगवाने वाली 58 वर्षीय आंगनवाड़ी शिक्षिका की मौत हो गई है. पुलिवेंदुला के अहोबिलापुरम इलाके की निवासी टी. नारायणम्मा का गुरुवार रात निधन हो गया. उन्हें स्थानीय सरकारी अस्पताल में एक पखवाड़े पहले कोविड-19 वैक्सीन लगाई गई थी. वैक्सीन लगने के बाद दूसरे दिन ही नारायणम्मा को बुखार चढ़ गया था. इसके बाद उन्हें उपचार के लिए एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था.Also Read - पश्चिम बंगाल में कोरोना प्रतिबंधों में छूट, फिल्मों की शूटिंग, जिम खोलने की अनुमति, ये होंगी शर्तें

डॉक्टरों ने जांच की गई तो उन्हें टाइफाइड बुखार पाया गया, जिसके बाद उन्हें कडप्पा के रिम्स अस्पताल में स्थानांतरित कर दिया गया. हालांकि, वह घर लौट आई, क्योंकि वह रिम्स में बुखार से उबर नहीं पाई थी. नारायणम्मा की गुरुवार रात घर लौटने के एक घंटे के भीतर मृत्यु हो गई. अब उनके परिवार के सदस्यों ने आरोप लगाया है कि उनकी मृत्यु इसलिए हुई है, क्योंकि वैक्सीन विफल रही है. Also Read - Burans Phool ke Fayde: बुरांश का फूल Corona रोकने में सक्षम, IIT के शोधकर्ताओं का बड़ा दावा

आंध्र प्रदेश में कोरोना वैक्सीन लगवाने के बाद एक गांव की एक वॉलंटियर (स्वयंसेवक) पी. ललिता की मौत हो गई थी. सरकार की तरफ से मृतका के परिवार को मुआवजे के तौर पर 50 लाख रुपये दिए गए हैं. आरोप है कि ललिता की मौत कोरोनावायरस वैक्सीन लेने के बाद आई जटिलताओं से हुई थी. Also Read - Delhi Weekend Curfew: नियम तोड़ते हुए पकड़े गए लोग, 1320 के खिलाफ मुकदमा दर्ज

28 साल की ललिता ने आठ अन्य स्वयंसेवकों के साथ वैक्सीन शॉट लिया था और अन्य सभी को सिरदर्द और बुखार जैसे लक्षण दिखाई दिए, ललिता की हालत ज्यादा ही गंभीर हो गई. हालांकि वह दवा ले रही थी और घर पर ही रहती थी, लेकिन जल्द ही उसकी बीमारी से मौत हो गई.