देहरादून: उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने यहां शनिवार को कहा कि ऋषिकेश के पवित्र शहर गंगा नदी पर प्रतिष्ठित लक्ष्मण झूला पुल के पास एक नए पुल का निर्माण किया जाएगा. राज्य सरकार ने शुक्रवार को सन् 1920 में बने प्रतिष्ठित पुल लक्ष्मण झूला को सुरक्षा कारणों से बंद करने का निर्णय लिया. पैदल यात्री हालांकि अभी भी पुल का उपयोग कर रहे हैं, क्योंकि स्थानीय निवासियों ने फैसले का विरोध किया है. रावत ने कहा कि कांवड़ मेला के दौरान भारी भीड़ के सामने, पुल को खुला रखना उचित नहीं था, क्योंकि लोगों की सुरक्षा सर्वोपरि है.

मुख्यमंत्री ने यमकेश्वर की विधायक रितु खंडूरी से कहा, “यही कारण है कि पुल को दोपहिया वाहनों के लिए बंद कर दिया गया है और अधिकारियों को जल्द से जल्द वैकल्पिक व्यवस्था करने के निर्देश दिए गए हैं.” पूर्व मुख्यमंत्री बीसी खंडूरी की बेटी विधायक रितु खंडूरी ने मुख्यमंत्री रावत से मुलाकात की और पुल के बंद होने पर अपनी चिंता व्यक्त की, क्योंकि उनके निर्वाचन क्षेत्र के लोग पुल पर काफी निर्भर हैं.

ऋषिकेश के पवित्र शहर में आने वाले लोगों के लिए पुल का निलंबन एक चौंका देने वाला निर्णय साबित हुआ है. यह व्यापक रूप से माना जाता है कि भगवान राम के छोटे भाई लक्ष्मण ने जूट की रस्सियों पर गंगा को पार किया था, जहां आज पुल खड़ा है.