रांची: जेल में बंद बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री एवं राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने दुमका कोषागार से अवैध निकासी के मामले में झारखंड हाई कोर्ट में जमानत के लिए याचिका डाली. लालू की ओर से इस मामले में जमानत याचिका दायर की गई. इस पर 25 अक्टूबर को सुनवाई होगी. दुमका कोषागार मामले में सीबीआई की विशेष अदालत ने लालू को पिछले वर्ष 24 मार्च को भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) और भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम (पीसी एक्ट) के तहत सात-सात वर्ष बामशक्कत कैद की सजा सुनाई थी. इस मामले में उन पर साठ लाख रुपए का जुर्माना भी लगाया गया था. इसके अलावा चारा घोटाले के तीन अन्य मामलों में वह सजा काट रहे हैं. लालू यादव पर दुमका कोषागार से तीन करोड़ 13 लाख रुपए गबन के आरोप हैं.

जानिए कौन है FBI के 10 मोस्ट वांटेड की लिस्ट में शामिल भारत का भगोड़ा भद्रेश पटेल

लालू प्रसाद ने जमानत के लिए अपनी बीमारी का हवाला दिया है और कहा है कि वह रिम्स में भर्ती हैं और कई बीमारियों से ग्रसित हैं. मधुमेह, हृदय और किडनी के मरीज हैं. उनका स्वास्थ्य लगातार गिर रहा है. बढ़ती उम्र और खराब स्वास्थ्य को देखते हुए उन्हें इस मामले में जमानत दी जाए.

इससे पहले लालू को उच्च न्यायालय ने जुलाई में देवघर कोषागार से अवैध निकासी के मामले में जमानत दी थी. सुप्रीम कोर्ट ने आपराधिक मामलों में आधी सजा काटने पर जमानत देने का प्रावधान किया है. इसी को देखते हुए उच्च न्यायालय ने उन्हें देवघर मामले में जमानत दी.