जम्मू: जम्मू-कश्मीर के राजौरी जिले में नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तानी सैनिकों की भारी गोलीबारी और गोलाबारी में शहीद हुए सेना के जवान का बुधवार को यहां स्थित उनके पैतृक गांव में पूरे सैन्य सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया. शहीद के अंतिम दर्शन के लिए उनके गांव में सड़क के दोनों ओर हजारों लोग एकत्रित हुए . लोगों ने इस दौरान उनकी शहादत को नमन करते हुए नारेबाजी की. कक्षा चौथी में पढ़ने वाले बेटे ने शहीद सैनिक को मुखाग्नि दी.Also Read - QUAD सामरिक ही नहीं अर्थव्यवस्था का भी बनेगा स्तम्भ; भारत, जापान, अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया ने दुनिया को दिखाया दम

क्रॉस्ड स्वार्ड डिविजन के जनरल ऑफिसर कमांडिंग मेजर जनरल आर दीवान ने शहर के बाहरी इलाके अखनूर में शहीद नायक कृष्ण लाल को श्रद्धांजलि अर्पित की. उन्होंने कहा कि 34 वर्षीय सैनिक कृष्ण लाल का तिरंगे से लिपटा ताबूत सैन्य वाहन से अखनूर सेक्टर के घागरियाल गांव स्थित उनके घर लाया गया. शहीद सैनिक के परिवार में उनकी पत्नी शशि देवी और एक बेटा है. Also Read - कैप्टन अभिलाषा बराक ने रच दिया इतिहास, बनीं देश की पहली महिला 'कॉम्बैट एविएटर'; देखें तस्वीरें...

Also Read - फैंस के लिए खुशखबरी, नहीं स्थगित होगी सीरीज, खेले जाएंगे Pakistan के मुकाबले

जम्मू-कश्मीर के राजौरी जिले में मंगलवार को नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर पाकिस्तानी सैनिकों ने संघर्षविराम का उल्लंघन करते हुए भारी गोलीबारी और गोलाबारी की थी. इसमें नायक लाल शहीद हो गए.