मुंबई: पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर पूरा देश शोक में डूबा हुआ है. स्वर कोकिला लता मंगेशकर ने कहा कि भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी के निधन की खबर सुनकर वह स्तब्ध हैं. भारत रत्न लता मंगेशकर ने कहा, “मैं उन्हें पिता के समान मानती थी और वह मुझे अपनी बेटी जैसा मानते थे. मैं हमेशा उनको दद्दा कह कर बुलाती थी. आज मुझे वैसा ही दुख हुआ है जैसा कि मेरे पिता के स्वर्गवास के समय हुआ था.” Also Read - अब सदाबहार गाने 'लग जा गले' का आया रीक्रिएट वर्जन, राधिका मदान-जसलीन रॉयल ने उठाया ज़िम्मा  

टाटा ट्रस्ट के चेयरमैन रतन एन टाटा ने कहा, “वाजपेयी जी महान नेता थे. उनका दिल करुणा से भरा था और वह हास्य रंग के भी थे. वह हम सब को हमेशा याद आएंगे.” टाटा संस समूह के चेयरमैन एन चंद्रशेखरन ने कहा, “देश ने विश्व स्तर पर स्वतंत्र भारत के एक महान नेता को खो दिया. वाजपेयी जी ने महान ज्ञान, दूरदर्शिता और प्यार के साथ भारत का नेतृत्व किया.” Also Read - Kerala Pregnant Elephant Murder: केरल में प्रेग्नेंट हथिनी की हत्या पर बोले उद्योगपति रतन टाटा- 'दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई हो'

अपोलो अस्पताल के संस्थापक-अध्यक्ष डाक्टर प्रताप रेड्डी ने वाजपेयी के दयालु और स्नेही रवैये को याद किया, जब उन्होंने एक चिकित्सा स्थिति का पता लगाया और उसका इलाज किया जिसकी कि उन्हें सख्त जरूरत थी. रेड्डी ने कहा, “वह अच्छे से ठीक हुए और फिर प्रधानमंत्री बने. जब वह अपने घर पर अस्वस्थ थे तो मैंने उनसे मुलाकात की थी. मैंने अपना एक खास दोस्त खो दिया.” Also Read - Coronavirus के बीच रतन टाटा ने उद्यमों को सक्षम बनाने के लिए कही ये बात, जताई ये उम्‍मीद

(इनपुट: एजेंसी)