नई दिल्ली: बॉलीवुड एक्‍टर सुशांत सिंह राजपूत के परिवार के वकील विकास सिंह ने शुक्रवार को दावा किया कि अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) टीम का हिस्सा रहे एक डॉक्‍टर ने उन्हें ”बहुत पहले” बताया था कि राजपूत की तस्वीरें संकेत देती हैं कि यह आत्महत्या नहीं, बल्कि गला दबाकर हुई कथित हत्या थी.Also Read - अंडरवर्ल्‍ड डॉन छोटा राजन की तबीयत बिगड़ी, AIIMS-Delhi में चल रहा इलाज

वकील ने ट्वीट किया कि इस मामले में निर्णय लेने में सीबीआई की देरी से वह हताश हो रहे हैं. सिंह ने ट्वीट किया, ”आत्महत्या के लिए उकसाने को एसएसआर (सुशांत सिंह राजपूत) की हत्या के मामले में बदलने का फैसला करने में सीबीआई की देरी से हताश हो रहा हूं.” Also Read - AIIMS प्रमुख रणदीप गुलेरिया का बड़ा बयान, बोले- भारत के बच्चों की इम्युनिटी मजबूत, दोबारा खोले जाने चाहिए स्कूल

वकील ने कहा, ”एम्स टीम का हिस्सा रहे चिकित्सक ने मुझे बहुत पहले बताया था कि मैंने उन्हें जो तस्वीरें भेजी थीं, वे 200 प्रतिशत इस बात की ओर इशारा करती हैं कि यह गला दबाने से हुई मौत थी, आत्महत्या नहीं.” Also Read - Coronavirus Delta Plus: क्या ज्यादा खतरनाक है डेल्टा प्लस वेरिएंट? AIIMS के डायरेक्टर ने दिया जवाब

बता दें कि राजपूत (34) का शव 14 जून को उपनगर बांद्रा में अपने अपार्टमेंट में लटका मिला था. इस मामले की जांच सीबीआई कर रही है.