त्रिशूर: माकपा के महासचिव सीताराम येचुरी ने कहा कि 2019 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी को सत्ता से बेदखल करने के लिए उनकी पार्टी धर्मनिरपेक्ष और लोकतांत्रिक शक्तियों के साथ गठबंधन करेगी. उन्होंने यह भी साफ़ किया कि उनकी पार्टी कांग्रेस के साथ हाथ नहीं मिलाएगी. येचुरी ने कहा, ‘‘पार्टी का मुख्य प्राथमिक उद्देश्य बेहतर भारत का निर्माण करने के लिए बीजेपी को हटाना है. यह लोकतांत्रिक एवं धर्मनिरपेक्ष शक्तियों को साथ लाकर हासिल किया जाएगा लेकिन कांग्रेस के साथ कोई चुनावी गठजोड़ नहीं किया जाएगा. ’’Also Read - शिवसेना का तंज, 'कभी सोनू सूद की तारीफ करती थी भाजपा, अब उन्हें मानती है ‘टैक्स चोर’'

वह माकपा की केरल इकाई के चार दिवसीय सम्मेलन के समापन पर एक रैली को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा कि माकपा बीजेपी को हराने के लिए कांग्रेस के साथ हाथ नहीं मिला सकती क्योंकि कांग्रेस भी उसी आर्थिक नीतियों का प्रतिनिधित्व करती है. येचुरी ने कहा, ‘‘हम कह चुके हैं कि चुनाव के वक्त इसी समझ को ध्यान में रखकर देश में गैर सांप्रदायिक वोटों को अधिक से अधिक लामबंद करने के लिए उपयुक्त चुनावी तरकीब तैयार किया जाएगा.’’ Also Read - RSS पर विवादित बयान देने पर राहुल गांधी के खिलाफ FIR दर्ज करने के लिए विचार कर रहे हैं: MP के गृह मंत्री

बता दें कि अगले साल देश में लोकसभा चुनाव होने है और उसी के लिए सभी सियासी दलों ने तैयारी शुरू कर दी है. 2014 आम चुनाव में ख़राब प्रदर्शन करने वाली माकापा 2019 में अच्छा प्रदर्शन करना चाहती है और इसी लिए वह रणनीति भी बना रही है. Also Read - PM Modi’s 71st Birthday: 71 साल के हुए प्रधानमंत्री मोदी, राष्‍ट्रपति, अमित शाह ने दी बधाई, BJP का सेवा-समर्पण अभियान आज से

(भाषा इनपुट)