गोवा में मुलाकात के बाद राफेल पर मनोहर पर्रिकर और राहुल गांधी में 'लेटर वॉर'

गोवा के सीएम ने राहुल पर शिष्टाचार भेंट का इस्तेमाल राजनीतिक फायदे के लिए करने का लगाया आरोप.

Published: January 31, 2019 7:35 AM IST

By India.com Hindi News Desk | Edited by David John

गोवा में मुलाकात के बाद राफेल पर मनोहर पर्रिकर और राहुल गांधी में 'लेटर वॉर'

नई दिल्ली: शिष्टाचार भेंट का इस्तेमाल राजनीतिक फायदे के लिए करने संबंधी मनोहर पर्रिकर के आरोप को खारिज करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को कहा कि पर्रिकर ने दबाव में आकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से वफादारी दिखाने के लिए उन्हें निशाना बनाया है. पर्रिकर को लिखे जवाबी पत्र में कांग्रेस अध्यक्ष ने यह भी कहा कि उन्होंने गोवा के मुख्यमंत्री के साथ हुई कोई निजी बातचीत साझा नहीं की है बल्कि राफेल मामले से जुड़ीं वही बातें की हैं जो पहले से सार्वजनिक पटल पर हैं. गांधी ने कहा, ‘पर्रिकर जी, मैं यह सुनकर आहत हूं कि अपने मुझे कोई पत्र लिखा और इसे मुझे पढ़ने का मौका मिलने से पहले ही मीडिया में लीक कर दिया.

Also Read:

उन्होंने कहा, ‘सम्मान के साथ कहना चाहता हूं कि मेरा आपके यहां दौरा पूरी तरह निजी था. निःसन्देह आपको यह याद होगा कि जब अमेरिका में आपका इलाज चल रहा था तब भी मैंने आपकी सेहत के बारे में जानने के लिए संपर्क किया था. बहरहाल, मैं एक जनप्रतिनिधि हूं. राफेल सौदे में एक भ्रष्ट प्रधानमंत्री की बेईमानी को लेकर उन पर हमला करने मेरा अधिकार है. मैंने वही बातें कहीं हैं जो पहले से ही सार्वजनिक पटल पर हैं. मैंने हमारी मुलाकात के दौरान हुई बातचीत से जुड़ी कोई जानकारी साझा नहीं की है.

गांधी ने कहा, ‘मुझे आपकी स्थिति से हमदर्दी है, मैं समझता हूं कि कल की हमारी मुलाकात के बाद आप पर कितना दबाव है. दबाव की वजह से आपको प्रधानमंत्री और उनके साथियों के प्रति वफादारी दिखाने के लिए अव्यवहारिक ढंग से मुझपर निशाना साधने का असामान्य कदम उठाना पड़ा. आप को अनावश्यक और दुर्भाग्यपूर्ण विवाद पर बोलने के लिए मजबूर होना पड़ा क्योंकि पत्र मीडिया को लीक किया गया. गांधी ने पर्रिकर के जल्द सेहतमंद होने की कामना की.

पिछले काफी अर्से से बीमार चले रहे गोवा के मुख्यमंत्री पर्रिकर ने बुधवार को राहुल गांधी पर आरोप लगाया कि उन्होंने ‘शिष्टाचार भेंट’ का इस्तेमाल तुच्छ राजनीतिक फायदे के लिये किया और उन दोनों के बीच पांच मिनट की मुलाकात में राफेल मुद्दे का कोई जिक्र नहीं हुआ था. कांग्रेस अध्यक्ष को लिखे पत्र में पर्रिकर ने कहा, ‘मैं इसे लेकर बेहद आहत हूं कि आपने इस मुलाकात का इस्‍तेमाल भी अपने तुच्छ राजनीतिक फायदे के लिए किया. आपने मेरे साथ महज 5 मिनट का वक्‍त बिताया और इस दौरान न तो आपने राफेल के बारे में कुछ जिक्र किया और न ही हमने इस संबंध में कोई चर्चा की.

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को निशाना बनाते हुए कांग्रेस अध्यक्ष ने दावा किया था कि पूर्व रक्षा मंत्री पर्रिकर ने स्पष्ट तौर पर कहा कि उनका नये सौदे से कोई लेना देना नहीं है. गांधी ने बुधवार को युवा कांग्रेस के कार्यक्रम में कहा, ‘मैं कल पर्रिकर जी से मिला था. पर्रिकर जी ने खुद कहा था कि सौदा बदलते समय पीएम मोदी ने हिंदुस्तान के रक्षा मंत्री से नहीं पूछा था.

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें देश की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Published Date: January 31, 2019 7:35 AM IST