नई दिल्ली: लेफ्टिनेंट जनरल मनोज मुकुंद नरवाणे अगले थलसेना प्रमुख होंगे. आधिकारिक सूत्रों ने सोमवार को यह जानकारी दी. लेफ्टिनेंट जनरल नरवाणे वर्तमान में थलसेना के उप प्रमुख हैं. सूत्रों ने बताया कि नरवाने की नियुक्ति को उच्चतम स्तर से मंजूरी मिल गई है. सरकार ने नियुक्ति में वरिष्ठता के सिद्धांत का पालन किया है. बता दें कि इसी साल सितंबर महीने में ही उन्होंने वाइस चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ की जिम्मेदारी संभाली थी. ऑपरेशन और कमांड का लंबा अनुभव रखने वाले लेफ्टिनेंट जनरल नरवाणे मौजूदा आर्मी चीफ जनरल बिपिन रावत के बाद सबसे सीनियर अधिकारियों में से एक थे.


लेफ्टिनेंट जनरल मनोज मुकुंद नरवाणे भारतीय सेना के वर्तमान और 40वें उप सेना प्रमुख (वीसीएएस) हैं. उन्होंने 1 सितंबर 2019 को लेफ्टिनेंट जनरल देवराज अनबू की सेवानिवृत्ति के बाद पद ग्रहण किया था.

थलसेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत इस पद पर तीन साल रहने के बाद 31 दिसंबर को सेवानिवृत्त होंगे. उन्हें देश का पहला चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ बनाए जाने की उम्मीद है. सितंबर में थलसेना उप प्रमुख बनने से पहले नरवाने सेना की पूर्वी कमान का नेतृत्व कर रहे थे जो चीन से लगती भारत की लगभग चार हजार किलोमीटर लंबी सीमा की रखवाली करती है.

नरवाणे को जून 1980 में सातवीं बटालियन, सिख लाइट इन्फैंट्री रेजीमेंट में कमीशन मिला था.