नई दिल्ली: दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) में शनिवार को हल्की बारिश व बूंदाबांदी हुई. मौसम विभाग ने अपने पूर्वानुमान में दिन में और बौछारें पड़ने और ओले गिरने की संभावना जताई है. बूंदाबांदी से तापमान पर कोई खास असर नहीं पड़ा. न्यूनतम तापमान 13 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ.

भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के अधिकारी ने आईएएनएस को बताया, “दिन में ओलावष्टि के साथ बौछारें पड़ने की संभावना है.” सुबह 8.30 बजे आद्र्रता का स्तर 98 फीसदी दर्ज हुआ. अधिकतम तापमान 22 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने की संभावना है. वहीं, शुक्रवार को अधिकतम तापमान सामान्य से तीन डिग्री कम 24.1 डिग्री सेल्सियस जबकि न्यूनतम तापमान सामान्य से छह डिग्री कम 6.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ.

जम्मू-कश्मीर में जवानों के राशन स्टॉक में जहर मिलाने की साजिश, ISI के प्लान का खुलासा

हिमाचल प्रदेश में अगले दो दिन में भारी बर्फबारी
वहीँ हिमाचल प्रदेश में मौसम विभाग ने शुक्रवार को अगले दो दिनों में भारी बारिश व बर्फबारी की आशंका जताई है. सरकार ने पर्यटकों से ऊंची पहाड़ियों की तरफ नहीं जाने की चेतावनी दी है. अत्यधिक बारिश व बर्फबारी से सड़कों के टूटने की संभावना बनी रहती है. मोटरचालकों से दूर-दराज के क्षेत्रों में जाने में सतर्कता बरतने को कहा गया है, ऐसा सड़कों के धसने व भूस्खलन की संभावना की वजह से किया गया है. भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के एक अधिकारी ने कहा, “पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने से 2-3 मार्च को अत्यधिक बारिश व बर्फबारी की आशंका है. इसके बाद मौसम शुष्क रहेगा.”

जम्मू-श्रीनगर राजमार्ग पर ताजा बर्फबारी ने बढ़ाई ठंड, वाहनों की आवाजाही प्रभावित

उन्होंने कहा कि पर्यटक रिसॉर्ट शिमला, कुफरी, नारकंडा, कल्पा, मनाली और डलहौजी में अत्यधिक बर्फबारी की संभावना है. शिमला में न्यूनतम तापमान 1.2 डिग्री सेल्सियस, जबकि मनाली में 3.8 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया. लाहौल व स्पीति जिले का केलोंग राज्य का सबसे ठंडा स्थान रहा, जहां न्यूनतम तापमान शून्य से 11.2 डिग्री सेल्सियस रहा. किन्नौर जिले कल्पा में तापमान शून्य से 4.6 डिग्री सेल्सियस नीचे, जबकि डलहौजी में शून्य से 0.5 डिग्री सेल्सियस नीचे व धर्मशाला में 4.6 डिग्री रहा.