Liquor Home Delivery in Karnataka: कोरोना वायरस तेजी से बढ़ रहा है. कर्नाटक भी इसमें पीछे नहीं है. इस बीच राज्य की बीजेपी सरकार ने ऐसा फैसला किया है, जो राज्य के इतिहास में कभी नहीं हुआ. सीएम बीएस येदियुरप्पा (BS Yediyurappa) ने घोषणा की है कि राज्य में शराब की होम डिलीवरी (Alcohol Home Delivery) की जाएगी. ऑर्डर करने पर कर्नाटक में शराब घर पर पहुंचेगी.Also Read - कर्नाटक के पूर्व CM बीएस येदियुरप्पा के नाम पर होगा शिवमोगा एयरपोर्ट, दिसंबर में उद्घाटन

सीएम ने कहा कि “इस समय खाने-पीने की चीजों की अनुमति है. हम राज्य में शराब की होम डिलीवरी की अनुमति दे रहे हैं.” कोविड संक्रमण (Corona Virus) में तेज उछाल के साथ कर्नाटक कैबिनेट ने 18 से 44 वर्ष की आयु के सभी लोगों को मुफ्त में टीकाकरण करने का संकल्प लिया. मंत्रिमंडल की बैठक के बाद मुख्यमंत्री बी.एस. येदियुरप्पा ने घोषणा की कि कर्नाटक राज्य भर के सरकारी अस्पतालों में 18 वर्ष से अधिक आयु के लोगों और 45 वर्ष से कम आयु के लोगों का टीकाकरण करेगा. राज्य में 45 वर्ष से अधिक आयु वालों के टीकाकरण का खर्च केंद्र सरकार वहन करेगी. उन्होंने यह भी घोषणा की कि कैबिनेट ने अब से कम से कम तीन महीने के लिए सभी आगामी चुनावों को स्थगित करने के लिए राज्य चुनाव आयोग को लिखने का फैसला किया. Also Read - Karnataka के पूर्व सीएम BS Yediyurappa की नातिन सौंदर्या का शव उसके घर में मिला, खुदकुशी की आशंका

येदियुरप्पा ने कहा कि कैबिनेट ने सभी मंत्रियों और विशेषज्ञों के साथ विचार-विमर्श के बाद ये फैसले लिए. मुख्यमंत्री ने कहा, “दूध और किराने का सामान जैसी चीजें दिन में सुबह 6 बजे से सुबह 10 बजे तक मिलेगी.” बेंगलुरु 1.2 करोड़ लोगों का शहर, रविवार को 20,000 से अधिक नए मामले दर्ज किये गये. प्रमुख भारतीय शहरों में, बेंगलुरु का रोजना मामलों में वर्तमान में राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के बाद दूसरे स्थान पर है. उन्होंने कहा, दो सप्ताह का तालाबंदी मंगलवार सुबह 9 बजे से शुरू होगी और 10 मई को समाप्त होगी. पब्लिक ट्रांसपोर्ट मंगलवार रात 9 बजे तक चलेगी, जो लोग अपने गृहनगर जाना चाहते हैं जा सकते हैं. Also Read - मुख्यमंत्री पद से 'हटाए' जाने के बाद मालदीव के लिए हुए रवाना येदियुरप्पा, जानिए कौन हैं साथ में?

येदियुरप्पा ने कहा कि वायरस के प्रसार को रोकने के लिए इन कठिन उपायों की आवश्यकता है. कोविड वायरस मुख्य रूप से बेंगलुरु और उसके आसपास के क्षेत्रों में फैल रहा है और यह मुंबई से भी आगे निकल गया है, इसलिए हम इस तरह के कठोर उपायों को लागू करने के लिए मजबूर हैं. उन्होंने कहा, “दोनों सरकारें टीकाकरण अभियान चला रही हैं, सरकारी अस्पतालों में राज्य भर में मुफ्त टीकाकरण होगा.”