नई दिल्लीः नए ट्रैफिक नियमों के खिलाफ दिल्ली-एनसीआर के कमर्शियल वाहन चालक आज हड़ताल पर हैं. इस कारण राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में आपको कैब, ऑटो, टैक्सी, प्राइवेट बस आदि मिलने में परेशानी हो सकती है. ऐसे में दफ्तर निकलने से पहले आप थोड़ा समय लेकर निकलें. मोटर यान संशोधन अधिनियम के विभिन्न प्रावधानों के खिलाफ ट्रांसपोर्टरों की इस हड़ताल के मद्देनजर राष्ट्रीय राजधानी के कई स्कूल भी बंद कर दिए गए हैं. बुहस्पतिवार सुबह से सड़कों पर कमर्शिलय वाहन नहीं दिख रहे हैं. रेलवे स्टेशनों और एयरपोर्ट पर स्थिति ज्यादा खराब है. बाहर से दिल्ली आने वाले लोगों को अपने गंतव्य तक पहुंचने के लिए ऑटो और टैक्सी नहीं मिल रहे हैं.

यूनाइटेड फ्रंट ऑफ ट्रांस्पोर्ट एसोसिएशंस (यूएफटीए) ने हड़ताल का आह्वान किया है. यूएफटीए में ट्रक, बस, ऑटो, टेम्पो, मेक्सी कैब और टैक्सियों का दिल्ली/एनसीआर में प्रतिनिधित्व करने वाले 41 यूनियन और संघ शामिल हैं. कई माता-पिता को अपने बच्चों के स्कूलों से संदेश मिला है कि बृहस्पतिवार को शिक्षण संस्थान बंद रहेंगे.

गैर सहायता प्राप्त निजी स्कूलों की एक्शन कमेटी के महासचिव भरत अरोड़ा ने कहा कि ट्रांसपोर्टरों की हड़ताल की वजह से अधिकतर स्कूलों ने छुट्टी का ऐलान किया है. जीडी सलवान पब्लिक स्कूल से मिले एक संदेश में कहा गया है कि दिल्ली और एनसीआर में निजी ट्रांसपोर्टरों की हड़ताल की वजह से स्कूल नर्सरी, केजी और 10वीं कक्षा के छात्रों के लिए बंद रहेगा.

द्वारका के आईटीएल पब्लिक स्कूल, चिन्मय विद्यालय और मथुरा रोड स्थित डीपीएस ने भी इसी तरह के संदेश अभिभावकों को भेजे हैं. आईटीएल पब्लिक स्कूल ने एक संदेश में कहा कि यूनाइटेड फ्रंट ऑफ ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन द्वारा बुलाए गए ट्रांसपोर्टरों की हड़ताल के कारण, स्कूल 19 सितंबर 2019 को बंद रहेगा. कक्षा छठी से 12वीं तक की निर्धारित परीक्षा 20 सितंबर को होगी.

डीपीएस मथुरा रोड ने कहा कि हड़ताल की वजह से 19 सितंबर को सभी छात्रों और शिक्षकों की छुट्टी है. वहीं मयूर विहार के एएसएन सीनियर सकेंडरी स्कूल ने माता-पिता से कहा है कि बृहस्पतिवार को हड़ताल को देखते हुए बच्चों को स्कूल भेजने के लिए जरूरी इंतजाम करें.