नई दिल्ली: देश में कोरोना वायरस के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए केंद्र सरकार ने 3 मई तक लॉकडाउन की अवधि को बढ़ा दिया है. इस बीच गृह मंत्रालय ने COVID-19 के मद्देनजर राष्ट्रीय निर्देश जारी किया है. इस निर्देश में यह कहा गया है कि सभी सार्वजनिक जगहों पर, कार्यस्थलों पर फेस मास्क लगाकर कर चेहरे को कवर करना अनिवार्य है. साथ ही किसी भी सार्वजनिक जगह पर थूकना भी दंडनीय अपराध होगा. इसके लिए जुर्मानें के साथ-साथ सजा का भी दी जा सकती है. Also Read - पीएम मोदी बोले- भारत ने सबसे पहले लगाया लॉकडाउन इसलिए आ रही करोना के मामलों में कमी

गृह मंत्रालय की गाइडलाइन्स में किसी संस्था में या कही भी 5 से अधिक लोगों के एक साथ इक्ट्ठा होने पर मनाही है. साथ ही गुटखा, शराब, तंबाकू जैसे सामानों पर सरकार की तरफ से बैन लगा दिया गया है. ताकि लोग जगह-जगह ना थूके. गृह मंत्रालय की तरफ से जारी गाइडलाइन्स में सार्वजनिक स्थल के साथ साथ कार्यस्थ्ल के लिए भी दिशानिर्देश जारी किए गए हैं. कार्यस्थलों पर दो लोगों के शिफ्ट के बीच एक घंटे का गैप रखना अनिवार्य है. Also Read - सात महीने बाद सिर्फ एक दिन के लिए खुला 'बांके बिहारी मंदिर', फिर से बंद किए गए कपाट, ये है बड़ी वजह

बता दें कि गृह मंत्रालय ने किसी भी जगह पर भीड़ न हो इस लिहाज से 3 मई तक सभी मंदिरों को भी बंद कर दिया गया है. यही नहीं लॉकडाउन 2.0 की गाइडलाइन्स में कृषि कार्यों के लिए सीमित छूट दी गई है. वहीं राज्यों में बसे-मेट्रो सर्विस बंद रहेंगी और स्कूल भी नहीं खोले जाएंगे. नए गाइडलाइन्स में पहले की ही तरह शॉपिंग मॉल्स को बंद रखा जाएगा. हवाई यात्रा, रेलवे सर्विसेज, होटल्स, कंपनिया और सिनेमा हॉल्स अगले आदेश तक बंद रहेंगे.