Lockdown 4 guidelines, what is close what is open, full details: केंद्र सरकार ने रविवार को 18 मई से दो और हफ्तों के लिए कोरोनावायरस लॉकडाउन को बढ़ा दिया है, साथ ही सीमित वायरस संक्रमण वाले क्षेत्रों में अर्थव्यवस्था को गति प्रदान करने के लिए कुछ ढील भी दी है. गृह मंत्रालय द्वारा रविवार शाम इसको लेकर दिशानिर्देशों जारी कर दिए हैं. लॉकडाउन 4 में राज्यों को अधिकार दिया गया कि वो तय करें कि कौन सा इलाका किस जोन में आयेगा. गृह मंत्रालय ने कहा कि खेल परिसरों और स्टेडियमों को खोलने की अनुमति दी जाएगी. हालांकि, दर्शकों को अनुमति नहीं दी जाएगी. Also Read - Coronavirus Update: कुल मामलों में से आधे मामले इन चार महानगरों से, देश में 2.4 लाख से अधिक लोग संक्रमित, देखें सभी जिलों की लिस्ट

यहां जानिए क्या रहेगा बंद

  • घरेलू हवाई एंबुलेंस को छोड़कर सभी घरेलू और अंतरराष्ट्रीय यात्री उड़ानों पर 31 मई तक रोक बरकरार रहेगी.
  • मेट्रो रेल सेवाएं, स्कूल, कॉलेज 31 मई तक बंद रहेंगे.
  • सार्वजनिक स्थानों पर पान, गुटखा, तंबाकू के सेवन पर प्रतिबंध पहले की ही तरह लागू रहेगा.
  • होटल, रेस्तरां, सभी सिनेमा हॉल, शॉपिंग मॉल, जिम, स्विमिंग पूल, मनोरंजन पार्क, थिएटर, बार और ऑडिटोरियम, असेंबली हॉल और इसी तरह के स्थान 31 मई तक पूरे देश में बंद रहेंगे.
  • सभी सामाजिक, राजनीतिक, धार्मिक कार्यक्रम, प्रार्थना/धार्मिक स्थल लॉकडाउन विस्तार की अवधि में 31 मई तक बंद रहेंगे.
  • आवश्यक सेवाओं से इतर, अन्य सभी लोगों के लिए शाम सात बजे से सुबह सात बजे के बीच देश भर में घरों से बाहर निकलने पर पाबंदी होगी.
  • खेल परिसरों और स्टेडियमों को खोलने की अनुमति दी जाएगी; हालांकि, दर्शकों को अनुमति नहीं दी होगी.
  • 65 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्ति, किसी बीमारी से ग्रस्त व्यक्ति, गर्भवती महिलाएं और 10 वर्ष से कम उम्र के बच्चे 31 मई तक घर पर रहेंगे, केवल आवश्यक और स्वास्थ्य कारणों के लिए ही बाहर निकलें.

लॉकडाउन 4.0 में क्या राहत मिली?

  • इन दिशानिर्देशों के तहत विशेष रूप से प्रतिबंधित गतिविधियों को छोड़कर सभी गतिविधियों को अनुमति दी जाएगी। हालाँकि, कंटेनमेंट जोन में केवल आवश्यक गतिविधियों की अनुमति होगी, जैसा कि पहले उल्लेख किया गया है.
  • लॉकडाउन 4.0 में निषिद्ध क्षेत्रों (कंटेनमेंट जोन) में स्थित दुकानों और मॉल के अलावा सोमवार से सभी दुकानों को अलग-अलग समय पर खोलने की अनुमति है. गृह मंत्रालय ने कहा है कि सभी दुकानें सुनिश्चत करें कि उनके ग्राहक एक-दूसरे से छह फुट की दूरी पर रहें और एक समय पर पांच लोगों से ज्यादा को वहां रहने की अनुमति ना दें.
  • स्थानीय प्रशासन सुनिश्चित करे कि निषिद्ध क्षेत्र (कंटेनमेंट जोन) के बाहर स्थित सभी दुकानें और बाजार अलग-अलग समय पर खुलें.
  • रेस्त्रां बंद रखे गए हैं, लेकिन होम डिलीवरी की सुविधा रहेंगी.
  • गृह मंत्रालय ने कहा कि कोविड-19 लॉकडाउन 4.0 के दौरान राज्यों की परस्पर सहमति से अंतरराज्यीय यात्री वाहनों, बस सेवाओं की आवाजाही को अनुमति दी जा सकती है.
  • राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों को अपने-अपने यहां कोरोना वायरस संक्रमण के हालात को देखते हुए रेड, ऑरेंज और ग्रीन जोन बनाने का अधिकार दे दिया गया है.
  • केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी दिशा-निर्देशों के आधार पर जिला प्रशासन अपने यहां रेड और ऑरेंज जोन में ‘निषिद्ध’ और ‘बफर’ जोन चिह्नित करेगा.
  • कार्यालयों और कार्यस्थलों में सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए नियोक्ताओं को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि आरोग्य सेतु ऐप सभी कर्मचारियों के मोबाइल फोन पर उपलब्ध हो.
  • जिला अधिकारियों से कहा गया है कि वे सभी को मोबाइल फोन पर आरोग्य सेतु एप्लिकेशन इंस्टॉल करने और नियमित रूप से ऐप पर अपनी स्वास्थ्य स्थिति को अपडेट करने की सलाह दें. इससे उन व्यक्तियों को समय पर चिकित्सा की सुविधा उपलब्ध होगी जो जोखिम में हैं.

कंटेनमेंट जोन छोड़कर बाकी जगहों पर शुरू हो जायेंगीं ये गतिविधियां

  • यात्री गाड़ियों और बसों से अंतरराज्यीय यात्राएं. हालांकि इसमें राज्यों की अनुमति होना भी जरूरी होगा.
  • राज्यों और केंद्रशासित प्रदेश का राज्य के अंदर शुरू किया गया यातायात.
  • लोगों की गतिविधियों के लिए तय किए गये स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर (SOP) के तहत गतिविधियां.

बता दें कि केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, कोविड-19 से अभी तक देश में 2,872 लोगों की मौत हुई है वहीं रविवार सुबह तक 90,927 लोगों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है. Also Read - कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित पांचवां देश बना भारत, इटली और स्पेन को पीछे छोड़ा

Also Read - स्वास्थ्य मंत्रालय के विशेषज्ञों का दावा, भारत में इस महीने खत्म हो जाएगी कोरोना महामारी