नई दिल्ली: देश में रविवार के दिन Lockdown 4.0 की अवधि समाप्त होने वाली है. ऐसे में बीते दिनों अमित शाह द्वारा राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बातचीत किए जाने के बाद लगने लगा है कि Lockdown 5.0 लागू किया जाएगा. हालांकि इसके स्वरूप में कुछ बदलाव हो सकता है. क्योंकि कोरोना वायरस के मामलों में काफी तेजी देखने को मिली है. हालांकि लॉकडाउन 5.0 को लेकर किसी तरह की अधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है लेकिन जिस तरह के हालात है उसके हिसाब से लॉकडाउन के पांचवे चरण को 14 जून तक बढ़ाया जा सकता है. लॉकडाउन 5.0 के सिलसिले में कैबिनेट सचिव राजीव गौबा ने राज्यों के स्वास्थ्य सचिवों और मुख्य सचिवों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बातचीत की है. इस दौरान 13 कोरोना हॉटस्पॉट में शामिल शहरों के जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक भी इस मीटिंग का हिस्सा रहें. इससे कहीं न कहीं यह संकेत मिलने लगा है कि Lockdown 5.0 में सरकार का फोकस हॉटस्पॉट, कंटेन्मेंट जोन या फिर सील इलाकों में ज्यादा रहेगा. वहीं देश के अन्य हिस्सों में शायद लॉकडाउन में थोड़ी रियायत दी जा सकती है. Also Read - वैज्ञानिकों ने खोजा कोरोना से जुड़ी गंभीर बीमारियों से बच्चों को बचाने का रहस्य, जानिए क्या है इनका दावा  

इन शहरों पर रहेगी नजर Also Read - कोरोना महामारी के बीच फिल्म निर्माता बना रहे हैं ये प्लान, तापसी पन्नू की आगामी फिल्म से हो सकती है शुरुआत

लॉकडाउन के पांचवे चरण में कोरोना वायरस के मामलों में काफी तेजी देखने को मिली है. सरकार इस बात को लेकर काफी परेशान है. लेकिन इनमें ज्यादातर जो मामले सामने आए हैं, उनके हिसाब से सबसे ज्यादा कोरोना के मामले 13 शहरों से ही सामने आ रहे हैं. इन शहरों में , दिल्ली, मुंबई, चेन्नई, जयपुर, जोधपुर, पुणे, हैदराबाद, कोलकाता, चेंगलपट्टू अहमदाबाद, ठाणे, इंदौर और तेरूवल्लुर शामिल हैं. इस कारण आशंका जताई जा रही है कि इन 13 शहरों पर लॉकडाउन के पांचवे चरण में ज्यादा फोकस किया जाएगा. साथ ही ज्यादा सावधानी भी बरती जाएगी. इसी कड़ी में बता दें कि कोरोना क्लस्टर को रोकने के लिए इन 13 शहरों या फिर यूं कहें कि रेड जोन्स में पहले ही गाइडलाइन जारी की जा चुकी है. इन गाइडलाइन्स का सभी को सख्ती से पालन करने के आदेश भी दिए जा चुके हैं. इस दौरान घर घर जाकर इन शहरों में कोरोना की टेस्टिंग की जा रही है. साथ ही इलाकों को सील करने व सर्वे करने का भी काम किया जा रहा है. Also Read - अमेरिका में नए वीजा नियम से लाखों भारतीय छात्र परेशान, क्या नरमी बरतेगा ट्रंप प्रशासन?

अबतक लॉकडाउन 5.0 को लेकर किसी तरह की अधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है, लेकिन माना ये जा रहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 31 मई रविवार के दिन अपने रेडियो प्रोग्राम ‘मन की बात (Man Ki Baat)’ में लॉकडाउन के पांचवे चरण की शुरुआत को लेकर घोषणा कर सकते हैं. साथ ही बीते दिनों गृहमंत्री अमित शाह द्वारा राज्यों के मुख्यमंत्रियों संग की गई बातचीत भी इसी ओर संकेत कर रहा है.

Lockdown 5.0 की गाइडलाइन?

1- राज्य सरकारों के पास यह अधिकार होगा कि राज्य में किन चीजों पर छूट मिलेगी और किन चीजों पर नहीं. कोरोना वायरस के मामलों के मद्देनजर राज्य सरकारें विभिन्न पाबंदियों में ढील देने या न देने का निर्णय कर सकती हैं.

2- कंटेन्मेंट जोन यानी रेड जोन में या सील किए गए इलाकों में किसी प्रकार की एक्टिविटी या आवाजाही अब भी बाधित रहने की उम्मीद है.

3- देश में बढ़ रहे कोरोना वायरस के मामलों के बाद केंद्र सरकार कुछ नए नियमों को लागू कर सकती हैं. कुछ चीजों पर प्रतिबंध भी लगाई जा सकती है.

4- स्कूलों को फिलहाल खोले जाने के आसार नहीं हैं. अन्य शैक्षणिक संस्थानों पर भी यह पाबंदी जारी रह सकती है.

5- शॉपिंग मॉल्स को लेकर भी राज्य सरकार व स्थानीय प्रशासन को ही फैसला करना होगा. Lockdown 4.0 में शॉपिंग मॉल्स के खोलने पर रोक लगाई गई थी. लेकिन अब कयास लगाए जा रहे हैं कि कुछ राज्य सरकारें अपने यहां चुनिंदा इलाकों में शॉपिंग मॉल्स खोलने की इजाजत दे सकती हैं.

6- रेलवे यात्रा और घरेलू उड़ान जारी रहेंगे. दिल्ली मेट्रों की सेवा भी कुछ हद तक 1 जून के बाद शुरू की जा सकती है.

7- लॉकडाउन 5.0 का सबसे ज्यादा असर बड़े शहरों यानी दिल्ली, मुंबई, बेंगलुरू, पुणे, थाणे, इंदौर, चेन्नई, अहमदाबाद, जयपुर, सूरत और कोलकाता में देखने को मिलेगा. क्योंकि इन सभी शहरों में कोरोना वायरस के मामलों में लगातार तेजी देखने को मिल रही है.

8- Lockdown 5.0 में किसी भी धार्मिक स्थान के खोले जाने पर संशय बना हुआ है. धार्मिक स्थानों पर लोगों के जमा होने पर रोक रहेगी. लेकिन इसका फैसला करने का अधिकार भी केंद्र, राज्य सरकारों को दे सकती है. बता दें कि कर्नाटक सरकार ने बीते दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को खत लिखकर सिफारिश की थी कि धार्मिक स्थानों को खोला जाए.

9- देश में रेस्तरां व खाने पीने के स्थानों जहां लोग जुटते हैं, इनके खोले जाने पर अभी विचार किया जा रहा है. लेकिन इस बाबत भी चर्चा है कि यह फैसला करने का अधिकार भी राज्य सरकार को दे दिया जाएगा.

10- अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर Lockdown 5.0 में प्रतिबंध जारी रहने की उम्मीद है.