चंडीगढ़: पंजाब में कोविड-19 का संक्रमण फैलने की रफ्तार कम करने के लिए सप्ताहांत और सार्वजनिक अवकाश वाले दिनों के लिए कड़े लॉकडाउन की घोषणा का असर आज दिख रहा है. पंजाब की सड़कें खाली नजर आ रही हैं. बता दें पंजाब में एक जिले से दूसरे जिले में जाने के लिए ई-पास जरूरी है और आवश्‍यक सेवाओं को प्रतिबंध से बाहर रखा गया है. Also Read - BMC ने अमिताभ के 'जलसा' को कंटेनमेंट जोन घोषित क‍िया, पुलिस ने अस्‍पताल और दो बंगलों की सुरक्षा बढ़ाई

आज सुबह अमृतसर का शहीद मदन लाल ढींगरा इंटर स्टेट बस टर्मिनल पूरी तरह सुनसान नज़र आया. शुक्रवार को पंजाब सरकार ने नई गाइडलाइंस जारी की हैं, जिसके मुताबिक वीकेंड और सार्वजनिक छुट्टी वाले दिनों पर अंतर-ज़िला आवाजाही पर रोक रहेगी, सिर्फ ई-पास धारकों को आवाजाही की अनुमति दी जाएगी. Also Read - Full Lockdown in Madhya Pradesh: कोरोना वायरस के चलते फिर से थमी मध्य प्रदेश की रफ्तार, राज्य में लागू हुआ टोटल लॉकडाउन


बता दें कि पंजाब सरकार ने शुक्रवार को कहा कि चिकित्सकीय आपात स्थिति को छोड़कर एक जिले से दूसरे जिले में ई-पास से ही आवाजाही की अनुमति दी जाएगी और सभी गैर-जरूरी वस्तुओं की दुकानें तथा सेवाएं रविवार को बंद रहेंगी.शुक्रवार को जारी नए दिशानिर्देशों के अनुसार, आवश्यक वस्तुओं की दुकानें तथा सेवाएं सभी दिन खुल सकेंगी.

– नए दिशानिर्देशों के अनुसार, आवश्यक वस्तुओं या सेवाओं से जुड़ी दुकानें रोजाना शाम सात बजे तक खोली जा सकेंगी.
– अन्य दुकानें, चाहे बाजार में हों या मॉल में रविवार को बंद रहेेंगे
– शनिवार को ये दुकानें शाम पांच बजे तक ही खुल सकेंगी
– रेस्तरां और शराब की दुकानों को प्रति दिन रात आठ बजे तक खोलने की अनुमति होगी
-स्तरां से केवल होम डिलिवरी की जा सकेगी या लोग सामान पैक कराकर ले जा सकेंगे.

मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने कल दोहराया था कि उनकी सरकार जहां जरूरत होगी, सख्त फैसले लेगी, ताकि राज्य में कोविड-19 का संक्रमण सामुदायिक स्तर पर नहीं फैल सके.