नई दिल्ली: लॉकडाउन का चौथा चरण 31 मई की आधी रात समाप्त होना है, ऐसे में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने गुरुवार शाम सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों को फोन कर लॉकडाउन के भविष्य के बारे में उनकी राय मांगी. सूत्रों के अनुसार, शाह ने जानना चाहा कि लॉकडाउन बढ़ाया जाए या नहीं. उन्होंने अर्थव्यवस्था को और खोलने को लेकर विभिन्न राज्यों की आशंकाओं और चिंताओं को सुना.Also Read - Gujarat Night Curfew News: गुजरात के 27 शहरों में Night Curfew चार फरवरी तक बढ़ाया गया, ये रहेंगी पाबंदियां

पश्चिम बंगाल जैसे राज्य जब श्रमिक ट्रेनें शुरू हुईं थीं, तब प्रारंभ में बड़े पैमाने पर प्रवासियों को लेकर चिंतत थे. हरियाणा ने गुरुवार को एक बार फिर दिल्ली से लगी सीमा को सील कर दिया. सूत्रों ने कहा कि शाह ने उनके विचार सुने और इन विचारों से वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अवगत कराएंगे. Also Read - Uttarakhand Elections 2022: अमित शाह ने रुद्र प्रयाग में किया प्रचार, काम के आधार पर मांगे वोट

प्रत्येक लॉकडाउन की अवधि पूरी होने के बाद आमतौर पर सभी मुख्यमंत्रियों के साथ प्रधानमंत्री की एक वीडियो कॉन्फ्रेंस होती रही है. लेकिन इस बार अभी तक ऐसी कोई घोषणा नहीं हुई है. लॉकडाउन का चौथा चरण 31 मई को समाप्त होने वाला है. जब लॉकडाउन 4.0 शुरू हुआ था, तब गृह मंत्रालय ने कहा था, “देशभर में सीमित संख्या में गतिविधियां प्रतिबंधित रहेंगी. इनमें यात्रियों की सभी घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय हवाई यात्रा शामिल हैं.” Also Read - Delhi Corona Update: दिल्ली में कोरोना के 4044 नए मामले, 24 घंटे में 25 लोगों की मौत

हालांकि लॉकडाउन की आधी अवधि बीतने के बाद केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने घरेलू उड़ान सेवा फिर से सशर्त शुरू करके सभी को चौंका दिया. अब राज्यों और केंद्र दोनों के सामने यह सवाल आ खड़ा हुआ है कि “अब आगे क्या?” 25 मार्च को लागू 21 दिवसीय लॉकडाउन 14 अप्रैल को समाप्त हुआ. लेकिन इसे तीन मई तक बढ़ा दिया गया. उसके बाद 17 मई तक बढ़ाया गया, और उसके बाद 31 मई तक.