Red Zone, Orange Zone, Green Zone of Uttar Pradesh: देश में लॉकडाउन बढ़ा दिया गया है. लॉकडाउन 17 मई तक बढ़ाया गया है. सरकार ने देश को तीन हिस्सों में बांटा है. कोरोना वायरस के खतरे के हिसाब से देश को ग्रीन, ऑरेंज और रेड ज़ोन में बांटा है. सरकार ने सभी जिलों की सूची भी जारी की है. केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने देशभर में 130 जिलों को रेड जोन, 284 को ऑरेंज जोन और 319 को ग्रीन जोन घोषित कर दिया. इन इलाकों में कोविड-19 मामलों की संख्या, मामलों के दोगुना होने की दर, जांच की क्षमता और निगरानी एजेंसियों से मिली जानकारी के आधार पर इन्हें श्रेणीबद्ध किया गया है. Also Read - Domestic Flights से महाराष्‍ट्र जाने वाले Air Passengers को 14 दिन का home isolation जरूरी, लेकिन...

ये हैं यूपी के रेड ज़ोन वाले जिले (Red Zone of Uttar Pradesh)
उत्तर प्रदेश के कई इलाके ऐसे हैं, जहां कोरोना का कहर ज्यादा है. ऐसे जिलों को रेड ज़ोन में रखा गया है. यूपी के कुल 19 जिलों को रेड ज़ोन में रखा है. राजधानी लखनऊ, आगरा और कानपुर शहर इनमें से एक है. इनके साथ ही गौतम बुद्ध नगर (नोएडा) वाराणसी, सहारनपुर, फिरोजाबाद, मुरादाबाद, बुलंदशहर, रायबरेली, मेरठ, बिजनौर, संत कबीर नगर, अमरोहा, बरेली, मथुरा, मुज़फ्फरनगर, अलीगढ़, रामपुर को रेड ज़ोन में रखा गया है. Also Read - लॉकडाउन में 3 महीने से मां से दूर था 5 साल का विहान, विमान से अकेले सफर कर दिल्ली से पहुंचा बेंगलुरु

रेड जोन में क्या छूट?
लॉकडाउन के विस्तार पर गृह मंत्रालय ने कहा कि रेड जोन में कुछ गतिविधियों की अनुमति होगी. ग्रामीण क्षेत्रों में सभी औद्योगिक और निर्माण गतिविधियाँ, जिनमें मनरेगा कार्य, खाद्य प्रसंस्करण इकाइयाँ और ईंट-भट्टे शामिल हैं, इनको अनुमति दी गई है. रेड जोन में ई-कॉमर्स गतिविधियों को केवल आवश्यक वस्तुओं के संबंध में अनुमति दी गई है. यानी ऑनलाइन शॉपिंग सिर्फ जरूरी सामान की हो पाएगी. निजी कार्यालय आवश्यकता के अनुसार 33% कर्मचारियों के साथ काम कर सकते हैं. बाकी को घर से काम करना होगा. राशन, सब्ज़ी और दवा की दुकानों के अलावा बाकी सब बंद ही रहेगा. अस्पताल खुलेंगे. इन निर्धारित कामों के लिए वाहनों को अनुमति होगी. चार पहिया वाहन में दो लोग और बाइक पर एक शख्स को चलने की अनुमति होगी. गांव इलाकों में दुकानें खुल सकती हैं, लेकिन शॉपिंग मॉल नहीं खुलेगा. कृषि कार्य चालू होंगे. मछली पालन, पशुपालन किया जा सकता है. Also Read - लॉकडॉउन में शादी, बुलेट पर दुल्‍हन को लेकर आया दूल्‍हा, पुलिस ने फूलमालाओं से किया स्‍वागत

ऑरेंज ज़ोन में हैं ये जिले (Orange Zone of Uttar Pradesh)
गाज़ियाबाद, इटावा, मैनपुरी, एटा, कन्नौज, झाँसी, जालौन, बाँदा, औरैया, हापुड़, बागपत, बदायूं, बस्ती, सीतापुर, बहराइच, उन्नाव, शामली, संभल, आजमगढ़, श्रावस्ती, जौनपुर, कासगंज, सुल्तानपुर, प्रयागराज, मिर्ज़ापुर, प्रतापगढ़, गाजीपुर, पीलीभीत, भदोही, मऊ, गोंडा, अयोध्या, गोरखपुर, बलरामपुर, कौशाम्बी, हरदोई को ऑरेंज ज़ोन में रखा गया है.

ऑरेंज जोन में क्या छूट
4 मई से दो सप्ताह के लिए लॉकडाउन के विस्तार पर गृह मंत्रालय ने कहा कि ऑरेंज जोन में टैक्सी और कैब एग्रीगेटर्स को एक गाड़ी में केवल 1 ड्राइवर और 1 यात्री की अनुमति दी जाएगी. गृह मंत्रालय ने कहा कि ऑरेंज जोन में व्यक्तियों और वाहनों के अंतर-जिला आवागमन को केवल कुछ गतिविधियों के लिए अनुमति दी जाएगी. चौपहिया वाहनों में ड्राइवर के अलावा अधिकतम 2 यात्री होंगे. MHA ने लॉकडाउन एक्सटेंशन ऑर्डर के Para 11 में संशोधन किया है, ‘ऑरेंज जोन में टैक्सियों और कैब एग्रीगेटरों को केवल 1 ड्राइवर और 2 यात्रियों के साथ अनुमति दी जाएगी’.

ग्रीन ज़ोन में ये हैं जिले (Green Zone of Uttar Pradesh)
ग्रीन ज़ोन में उत्तर प्रदेश के ललितपुर, हमीरपुर, महोबा, चित्रकूट, कानपुर देहात, शाहजहांपुर, महाराजपुर, हाथरस, खेरी, आंबेडकर नगर, बलिया, चंदौली, देवरिया, फरुखाबाद, फतेहपुर, कुशीनगर, अमेठी, सिद्धार्थनगर, और सोनभद्र को ग्रीन ज़ोन में रखा गया है.

ग्रीन जोन में सभी बड़ी छूट
ग्रीन जोन में सभी बड़ी आर्थिक गतिविधियों की छूट दे दी गई है. ताजा आदेश के मुताबिक, ग्रीन जोन के जिलों में बसें चल सकेंगी, लेकिन बसों की क्षमता 50% से ज्यादा नहीं होगी. यानी, अगर किसी बस में 50 सीटें हैं तो उसमें 25 से ज्यादा यात्री नहीं चढ़ेंगे. इन जिलों में नाई की दुकानें, सैलून समेत अन्य जरूरी सेवाओं और वस्तुएं मुहैया कराने वाले संस्थान भी 4 मई से खुल जाएंगे. सिनेमा हॉल, मॉल, जिम, स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स आदि बंद रहेंगे. इसके साथ ही ग्रीन ज़ोन वाले इलाकों में शराब की दुकानें खुल सकेंगी. पान मसाला और गुटखा की भी बिक्री होगी. लेकिन इसके लिए सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा.

सभी जोन में बंद रहेंगी ये गतिविधियाँ
कुछ गतिविधियाँ पूरे भारत में सभी जोन में बंद रहेंगी. इनमें हवाई मार्ग, रेल, मेट्रो और सड़क मार्ग द्वारा अंतर्राज्यीय आवागमन सहित स्कूलों, कॉलेजों, और अन्य शैक्षिक और प्रशिक्षण / कोचिंग संस्थानों का संचालन शामिल है. मॉल, सिनेमाघर, रेस्त्रां आदि सब बंद रहेंगे. किसी भी ज़ोन वाले जिलों में दूसरी जगहों के लोगों को नहीं घुसने दिया जाएगा. यानी आवाजाही पर बैन होगा. धार्मिक स्थल भी बंद ही रहेंगे. भीड़ एकत्रित नहीं होने दी जाएगी.