नई दिल्ली: देश में बढ़ते COVID-19 के मामले दिन पर दिन बढ़ते जा रहे हैं. ऐसे में की राज्यों की सरकारों की तरफ से केंद्र से सिफारिश की गई थी की लॉकडाउन को बढ़ा दिया जाए. इसी कड़ी में केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार के दिन केंद्र की योजनाओं व सरकार द्वारा उठाए जाने वाले कदमों को तय करने को लिए मंत्रियों संग बैठक की. यह बैठक राजनाथ सिंह के आवास पर की गई . इस बैठक की अध्यक्षता राजनाथ सिंह ने की. सूत्रों की माने तो 14 अप्रैल को लॉकडाउन को समाप्त करने या फिर लॉकडाउन की अवधि को आगे बढ़ाने को लेकर किसी तरह का फैसला सरकार की तरफ से नहीं लिया गया है.Also Read - Rajasthan Lockdown Update: राजस्थान में कोरोना पाबंदियों में मिली ढील, 20 सितंबर से खुलेंगे सभी स्कूल; शादी के लिए नई गाइडलाइन जारी

सरकार के सामने सबसे बड़ा सवाल दो बड़ी चीजों को लेकर सामने आया है. इसमें आजीविका का नुकसान बनाम जीवन का नुकसान शामिल है. हालांकि इस संबंध में कोई भी निर्णय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा सदन के नेताओं और मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक के बाद ही लिया जाएगा, जहां इस मुद्दे पर चर्चा की जानी है. सूत्रों के अनुसार, बैठक में आवश्यक आपूर्ति और विशेष रूप से कोरोना हॉटस्पॉटों की उपलब्धता और सुगमता पर चर्चा की गई. बैठक में गृहमंत्री अमित शाह, सूचना एवं प्रसार मंत्री प्रकाश जावड़ेकर, वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल, वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण, उपभोक्ता मामलों के मंत्री रामविलास पासवान सहित अन्य लोग शामिल रहे. Also Read - PM मोदी ने कहा- 21वीं सदी के भारत की सैन्य ताक़त को हर तरह से मजबूत बनाने में जुटे हैं

मंत्रिसमूह (जीओएम) ने कोरोना प्रकोप के मद्देनजर एक वर्ष के लिए सांसदों के वेतन को कम करने और दो वर्षों के लिए एमपीएलएडीएस को निलंबित करने के निर्णय का स्वागत किया. राजनाथ सिंह ने ट्वीट कर कहा, “मंत्रियों ने अपनी अंतर्²ष्टि साझा की कि कैसे हम स्थिति पर काबू पा सकते हैं और लोगों को कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में प्रेरित, ²ढ़ और सतर्क रहने में मदद कर सकते हैं.” केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की वेबसाइट के अनुसार, भारत में कोरोना संक्रमण से अब तक 114 लोगों की मौत हो चुकी है. 30 जनवरी को देश में पहला मामला सामने आने के बाद से कुल 325 लोग ठीक हो चुके हैं. Also Read - PAK बॉर्डर से लगे राजस्‍थान में NH पर IAF के फाइटर्स जेट्स की लैंडिंग, रक्षा मंत्री बोले-भारत किसी भी चुनौती से निपटने के लिए हमेशा तैयार