Lockdown Latest Update: कोरोना वायरस संक्रमण से निपटने के लिए देश की कई राज्य सरकारों ने सख्त लॉकडाउन और नाईट कर्फ्यू लगा दिया है, लेकिन इतनी कोशिशों के बाद भी कोरोना का संक्रमण और मौतों के आंकड़े हर गुजरते दिन के साथ भयावह होते जा रहे हैं. मध्य प्रदेश और राजस्थान सरकार ने कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए कई सख्त कदम उठाए हैं. यूपी, महाराष्ट्र, बिहार, केरल के साथ ही की राज्यों ने काफी सख्ती शुरू कर दी है लेकिन कोरोना है कि रूकने का नाम नहीं ले रहा है. तो बड़ा सवाल ये उठता है कि क्या अब पूरे देश में फुल लॉकडाउन लगा देना चाहिए. Also Read - Lockdown New Guidelines In Noida: नोएडा में 30 जून तक लागू रहेगी धारा-144, नई गाइडलाइंस जारी, जानिए क्या हैं नियम...

बता दें कि कोरोना महामारी की दूसरी लहर पर चिंता जताते हुए देशभर में संपूर्ण लॉकडाउन की यह मांग राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत कर रहे हैं तो वहीं कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी भी ऐसी ही मांग कर चुके हैं. ऐसे में देश में एक बार फिर से संपूर्ण लॉकडाउन की मांग जोर पकड़ रही है. इससे पहले अलग-अलग हाई कोर्टों के साथ-साथ सुप्रीम कोर्ट तक केंद्र और राज्य सरकार से लॉकडाउन पर विचार करने को कह चुका है. Also Read - UP Lockdown Latest Update: यूपी में 24 मई तक के लिए बढ़ाया जा सकता है लॉकडाउन, जल्द आदेश होंगे जारी

जानिए कहां क्या सख्ती लगाई गई है…. Also Read - UP Lockdown: सख्ती के बीच यूपी के इन जिलों में आज खुल गईं शराब की दुकानें, बाकी जिलों में कब, जानिए

राजस्थान सरकार ने भी राज्य में कोरोना महामारी की दूसरी लहर को रोकने के लिए 10 से 24 मई तक लाकडाउन लगाया है. राज्य में आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सबकुछ बंद रहेगा.

कर्नाटक सरकार भी महामारी को रोकने के लिए राज्य में सख्त उपायों को लागू करने पर विचार कर रही है. शुक्रवार को सीएम येदियुरप्पा अपने मंत्रिमंडल के सहयोगियों और वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक करेंगे और लॉकडाउन पर फैसला लेंगे.

यूपी में 10 मई तक लॉकडाउन बढ़ा दिया गया है. इस दौरान पूर्ण रूप से बंदी रहेगी, लेकिन जरूरी चीजों की दुकानें व जरूरी सेवाएं जारी रहेंगी.

दिल्ली में कोरोना वायरस लॉकडाउन को 10 मई तक आगे बढ़ाया गया है. राष्ट्रीय राजधानी में 19 अप्रैल से लॉकडाउन लगा हुआ है और यह दस मई तक जारी रहेगा.

महाराष्ट्र में पांच अप्रैल को निषेधाज्ञा के साथ कर्फ्यू जैसा लॉकडाउन और लोगों की आवाजाही पर पाबंदियां लगाई थीं. ये पाबंदियां बाद में 15 मई तक बढ़ा दी गईं हैं.

छत्तीसगढ़ में मंगलवार को एक बार फिर लॉकडाउन 15 मई तक के लिए बढ़ा दिया गया। रायपुर और दुर्ग जिला, जहां संक्रमण कुछ हद तक नियंत्रण में है, इस वजह से इन दोनों जिलों में अतिरिक्त छूट दी गई है.

बिहार में भी कोरोना के निरंतर बढ़ रहे मामलों को ध्यान में रख बिहार सरकार ने पांच मई से 15 मई तक बिहार में लॉकडाउन लगाने का निर्णय किया है.

ओडिशा में भी 19 मई तक लॉकडाउन लगाया गया है, जो बुधवार 5 मई से 19 मई तक जारी रहेगा.

कर्नाटक में 27 अप्रैल की रात से 12 मई तक लॉकडाउन लगा है.

पुडुचेरी में  10 मई तक लॉकडाउन बढ़ाया गया है.

जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने श्रीनगर, बारामूला, बडगाम और जम्मू जिलों में छह मई तक लॉकडाउन बढ़ाया है. सभी 20 जिलों के निगम/शहरी स्थानीय निकाय सीमा में नाइट कर्फ्यू जारी है.

मिजोरम के आइजोल एवं अन्य जिला मुख्यालयों में तीन मई से आठ दिनों का लॉकडाउन लगा है.

इन बाकी राज्यों में सख्त पाबंदियां

इसके अलावा गुजरात, मध्य प्रदेश, पश्चिम बंगाल , असम, तमिलनाडु समेत कई राज्यों में कोरोना की पाबंदियां लगाई गई हैं.

आंध्र प्रदेश में मई से दो हफ्ते के लिए दोपहर 12 बजे से सुबह छह बजे तक आंशिक कर्फ्यू की घोषणा की गई है. राज्य में पहले नाइट कर्फ्यू लगा था.

तेलंगाना में आठ मई तक नाइट कर्फ्यू जारी है.

नगालैंड में 30 अप्रैल से 14 मई तक कड़े नियमों के साथ आंशिक लॉकडाउन लगाया गया है.

इस तरह देखें तो देश के अधिकांश राज्यों में लॉकडाउन जैसी पाबंदियां जारी हैं. ऐसे में अब पूरे देश में लॉकडाउन का फैसला सरकार लेती है या नहीं, देखना होगा.