Locust Attack In Haryana: देश में एक तरफ खरीफ फसलों की बुवाई जोर पकड़ चुकी है, वहीं दूसरी तरफ हरियाली का दुश्मन टिड्डियों का आतंक कम नहीं हो रहा है. हरियाणा में शुक्रवार की रात टिड्डी दल पहुंचा और किसी भी समय देश की राजधानी दिल्ली पर भी यह धावा बोल सकता है. वनस्पति संरक्षण, संगरोध एवं संग्रह निदेशालय में पदस्थापित उपनिदेशक डॉ. के. एल. गुर्जर ने शनिवार को आईएएनएस को बताया कि टिड्डियां बीती रात पहली बार हरियाणा पहुंची हैं और दिल्ली के आसपास के इलाकों में इसका प्रकोप बना हुआ है. Also Read - Locust को कंट्रोल करने जैसलमेर में हेलिकॉप्‍टर तैनात, 6 राज्‍यों के 70 जिले में फैल चुकी हैं टिड्डियां

दिल्ली पर धावा बोलने के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने बताया कि इस समय टिड्डियां पलवल की तरफ बढ़ रही हैं और हवा के रुख के अनुसार ये गमन करती हैं. इसलिए दिल्ली की तरफ भी बढ़ सकती हैं. हरियाणा के गुरुग्राम और रेवाड़ी में इस समय टिड्डियों का प्रकोप बना हुआ है. Also Read - Locusts Attack: बिहार में टिड्डी दलों की हुई एंट्री, 20 जिलों में प्रशासन ने जारी किया अलर्ट, अपनाएं जा रहे ये उपाय

उन्होंने बताया कि टिड्डियों का प्रकोप इस समय राजस्थान और मध्यप्रदेश में अधिक है, जबकि छोटे-छोटे दल बिहार के रोहतास और उत्तर प्रदेश के वाराणसी व जौनपुर तक पहुंच चुके हैं. केंद्रिय कृषि मंत्रालय ने की रिपोर्ट के अनुसार, 21 जून 2020 तक राजस्थान, पंजाब, गुजरात, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ के 84 जिले अब तक टिड्डियों की चपेट में आ चुके हैं जहां 114,026 हेक्टेयर क्षेत्र में टिड्डी नियंत्रण किया गया है. Also Read - गुरुग्राम और फरीदाबाद में 1 जुलाई से दोबारा खुलेंगे शॉपिंग मॉल, केंद्र सरकार के दिशानिर्देशों का होगा पालन