Locust Attack: देश के कई हिस्सों में टिड्डी दलों के हमले (locust attack) से प्रशासन व सरकार चिंतित है. टिड्डी दलों पर लगातार काबू पाने की प्रशासन की तरफ से कोशिश की जा रही है. लेकिन अब राज्य सरकार की मदद करने के लिए केंद्र सरकार सामने आई है. टिड्डियों से निपटने के लिए केंद्र सरकार अब भारतीय वायुसेना की मदद लेगी. भारतीय वायु सेना से कृषि मंत्रालय ने एक करार किया है. इसके तहत वायुसेना के 4 हेलीकॉप्टरों की सहायता से टिड्डियों पर केमिकल का छिड़काव कर उन्हें निष्क्रिया किया जाएगा.Also Read - Jammu Air Force Base में ड्रोन से हमले का संदेह, निशाने पर थे पार्किंग में खड़े एयरक्राफ्ट

बता दें कि वायुसेना ने अपनी दो हेलीकॉप्टर Mi-17 में दो स्प्रे मशीनों को फिट भी कर लिया है. कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने 1 हेलीकॉप्टर को राजस्थान के बाड़मेर रवाना कर दिया. बता दें कि इस हेलीकॉप्टर को इंग्लैंड की एक कंपनी द्वारा बनाया गया है. इस हेलीकॉप्टर का इस्तेमाल स्प्रे का छिड़काव करने जैसे कामों के लिए ही किया जाता है. Also Read - Video: चीन के बढ़ते प्रभाव के मद्देनजर भारत-US ने हिंद महासागर में किया संयुक्‍त युद्धाभ्‍यास

तोमर ने कहा कि ब्रिटेन से स्प्रे मशीनों को मंगवाया गया है. अभी तक 60 मशीने आ चुकी हैं. वहीं 45 अन्य मशीनों भी जल्दी ही जाएंगी. साथ ही भारतीय वायुसेना के 4 हेलीकॉप्टरों से हमने समझौता किया है. 55 नए वाहनों को खरीदा गया है. इनकी मदद से हम टिड्डी दलों पर जीत हासिल करने में आसानी होगी. उन्होंने कहा कि टिड्डियों से बचाव में हम ड्रोन्स की भी मदद लेंगे. Also Read - हमारी क्षमता एक साल पहले से आज कहीं ज्यादा, देश में बनेगा 5वीं पीढ़ी का एयरक्राफ्ट: एयरचीफ मार्शल