नई दिल्ली: पश्चिम बंगाल कांग्रेस अध्यक्ष सोमेन मित्रा का कहना है कि पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी आगामी संसदीय चुनाव में राज्य में तृणमूल कांग्रेस के साथ कोई गठबंधन नहीं करने की प्रदेश इकाई की राय से सहमत हैं. मित्रा ने कहा, ‘हमारे पार्टी अध्यक्ष हमारी इस राय से राजी हैं कि तृणमूल कांग्रेस के साथ गठबंधन करना राज्य में पार्टी के लिए त्रासदी होगी क्योंकि यह तृणमूल ही है जिसकी वजह से भाजपा बंगाल में अपनी जड़ें जमा रही है. राहुलजी ने हमसे अपनी रणनीति तैयार करने को कहा है. उन्होंने हमसे कहा है कि वह इससे सहमत होंगे.

जब उनसे पूछा गया कि क्या इससे राज्य में माकपा की अगुवाई वाले वाममोर्चा के साथ गठबंधन करने के द्वार खुलेंगे तब उन्होंने कहा, ‘हम वाम समेत धर्मनिरपेक्ष और लोकतांत्रिक ताकतों के साथ बात करेंगे, लेकिन बातचीत शुरू करने से पहले हम अपनी पार्टी के अंदर इस मामले पर चर्चा करेंगे. गांधी ने लोकसभा के वास्ते पार्टी की तैयारी की समीक्षा करने के लिए शनिवार को दिल्ली में प्रदेश कांग्रेस प्रमुखों और कांग्रेस विधायक दलों के नेताओं के साथ एक बैठक की.

हालांकि माकपा के महासचिव सीताराम येचुरी का मानना है कि लोकसभा चुनाव में भाजपा को सत्ता से बेदखल करने के लिये मौजूदा परिस्थितियों में चुनाव पूर्व महागठबंधन की संभावना नहीं है. उन्होंने कहा कि प्रादेशिक स्तर पर विभिन्न धर्मनिरपेक्ष दलों के साथ चुनावी सहयोग की रूपरेखा को पार्टी आगामी तीन और चार मार्च को तय करेगी.

येचुरी ने बताया कि पार्टी पोलित ब्यूरो ने चुनाव पूर्व ‘महागठबंधन’ को नकारते हुए अगले आम चुनाव में राज्यों की स्थानीय परिस्थितियों के आधार पर चुनावी सहयोग कायम करने का फैसला किया है जिससे भाजपा विरोधी मतों को एकजुट किया जा सके. उन्होंने बताया, ‘अगले लोकसभा चुनाव की तैयारियों को लेकर आज खत्म हुयी माकपा पोलित ब्यूरो की बैठक में सभी राज्यों की रिपोर्ट के विश्लेषण के आधार पर यह फैसला किया गया है.

पश्चिम बंगाल सहित अन्य राज्यों में कांग्रेस के साथ चुनावी सहयोग के सवाल पर येचुरी ने कहा कि किस राज्य में किस दल के साथ किस प्रकार का चुनावी सहयोग कायम किया जायेगा, इसकी रूपरेखा आगामी तीन और चार मार्च को पार्टी की केन्द्रीय समिति की बैठक में तय होगी. जहां तक पश्चिम बंगाल का सवाल है, आप जानते हैं वहां वाममोर्चा में माकपा सहित नौ दल हैं और मोर्चा ने फिलहाल किसी अन्य दल को इसमें शामिल करने का फैसला नहीं किया है. इस पर अभी चर्चा चल रही है.