नई दिल्ली : आगामी लोकसभा चुनाव की रणनीति के मद्देनजर भाजपा ने अपनी तैयारियां और तेज कर दी हैं. चुनाव के लिये कमर कसते हुए भाजपा ने 26 मई से देश भर में बूथ स्तर से लेकर शक्ति केंद्रों तक व्यापक जनसम्पर्क अभियान शुरू करने का ऐलान किया है. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने हाल ही में कहा था कि जो बूथ जीतेगा, वही चुनाव जीतेगा. ऐसे में भाजपा ने पार्टी कार्यकर्ताओं को बूथ स्तर पर पार्टी को मजबूत बनाने के लक्ष्य को ध्यान में रखते हुए 2019 के लोकसभा चुनाव की तैयारियां करने को कहा है. Also Read - GHMC Election 2020: हैदराबाद में बोले अमित शाह- जीएचएमसी चुनाव में जीत होने के बाद हैदराबाद बनेगा आईटी केंद्र, खत्म होगी निजाम संस्कृति

महा-जनसम्पर्क अभियान चलाएगी भाजपा
भाजपा के एक वरिष्ठ पदाधिकारी ने मीडिया को बताया कि केंद्र सरकार के चार वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में भाजपा 26 मई से 11 जून 2018 तक महा-जनसम्पर्क अभियान का पहला चरण चलाएगी. उन्होंने कहा कि डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के बलिदान दिवस 23 जून से उनकी जयंती 6 जुलाई तक पार्टी की ओर से संगठन के सभी स्तरों पर महा-जनसम्पर्क अभियान का दूसरा चरण चलाया जाएगा. पार्टी के नेताओं और एवं कायकर्ताओं से बूथ स्तर पर मौजूदा शक्ति केंद्र तक के सभी संगठनों से लोगों के बीच अपनी उपस्थिति और भागीदारी सुनिश्चित करने को कहा गया है.

कार्यकर्ताओं की वाट्सऐप लोकेशन भी लेंगे केन्द्रीय पदाधिकारी

पार्टी सूत्रों ने बताया कि पार्टी कार्यकर्ताओं को घर – घर जाकर सरकार की योजनाओं के बारे में बताना है और पार्टी के नंबर पर मिस्ड कॉल करवाना है, ताकि पता चल सके कि कार्यकर्ता कितने घर गए हैं. कार्यकर्ताओं से कहा गया है कि अगर संभव हो, तब वाट्सऐप लोकेशन भी केन्द्रीय पदाधिकारियों के साथ साझा करें.

ज्यादा लोगों को नमो ऐप से जोड़ने की योजना

भाजपा ज्यादा से ज्यादा लोगों को नमो ऐप से जोड़ना चाहती है. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने हाल ही में कहा था कि जो बूथ जीतेगा, वही चुनाव जीतेगा. ऐसे में पार्टी कार्यकर्ताओं को बूथ स्तर पर पार्टी को मजबूत बनाना चाहिए . पार्टी के एक अन्य नेता ने कहा कि भाजपा की पूरी कोशिश है कि जनहित की हर योजनाओं का लाभ जरूरतमंदों तक पहुंचे और कोई जरूरतमंद उसके लाभ से वंचित न रहे.

दलितों, महिलाओं के मुद्दे पर दुष्प्रचार की रोकथाम

भाजपा पदाधिकारी ने आरोप लगाते हुए कहा कि विरोधी दल भाजपा के खिलाफ दलितों, अल्पसंख्यकों, किसानों और महिलाओं के मुद्दे पर दुष्प्रचार कर रहे हैं.चुनावों की रणनीति के तहत इस दुष्प्रचार को सख्ती से रोका और खारिज किया जाएगा साथ ही जनता के समक्ष सरकार के कामकाज और तथ्यों को रखा जाएगा. हाल ही में पार्टी ने महिला मोर्चा, अल्पसंख्यक मोर्चा, एससी मोर्चा, एसटी मोर्चा, युवा मोर्चा, किसान मोर्चा और ओबीसी मोर्चा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्यों की बैठक आयोजित की थी. इसमें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह शामिल हुए थे.
(इनपुट एजेंसी ) Also Read - मैं पार्टी में जाति, धर्म आधारित प्रकोष्ठ के पक्ष में नहीं हूं: नितिन गडकरी

Also Read - हैदराबाद का यह भाग्‍यलक्ष्‍मी मंदिर नगर निगम की चुनावी जंग के बीच क्‍यों बना सुर्खियों का केंद्र