नई दिल्ली: बीस राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में फैलीं 91 लोकसभा सीटों के लिए गुरुवार को मतदान होगा. ऐसे में आज यानी बुधवार को पोलिंग पार्टियां रवाना की जाएंगी. इसके लिए सभी जिला मुख्‍यालयों पर तैयारियां पूरी कर ली गई हैं. बता दें कि 91 लोकसभा सीटों के लिए चुनाव प्रचार अभियान मंगलवार शाम समाप्त हो गया है.

बता दें कि मंगलवार को भी दूरस्‍थ मतदान केंद्रों के लिए पोलिंग पार्टियां रवाना की गई, जबकि बाकी आज सुबह से रवाना की जाएगीं. उत्‍तराखंड में 1766 मतदान केंद्र दूरस्‍थ इलाकों में बनाए गए हैं, जहां के लिए मंगलवार को ही पोलिंग पार्टियां रवाना कर दी गई. उत्‍तराखंड की मुख्‍य निर्वाचन अधिकारी सौजन्‍या ने बताया कि मतदान पूरा होने तक कोई भी दल या प्रत्‍याशी प्रिंट, डिजिटल या सोशल मीडिया से प्रचार नहीं करेगा. आचार संहिता का उल्‍लंघन करने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी.

66 पूर्व नौकरशाहों का राष्ट्रपति को पत्र, कहा- खतरे में है चुनाव आयोग की विश्वसनीयता

इन राज्‍यों में थमा चुनाव प्रचार
मंगलवार को शाम पांच बजे उत्तर प्रदेश, आंध्र प्रदेश, अरुणाचल प्रदेश, असम, बिहार, छत्तीसगढ़, जम्मू एवं कश्मीर, महाराष्ट्र, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, नागालैंड, ओडिशा, सिक्किम, तेलंगाना, त्रिपुरा, उत्तराखंड, पश्चिम बंगाल, अंडमान एवं निकोबार द्वीप समूह और लक्ष्यद्वीप के 91 संसदीय क्षेत्रों में चुनावी रैलियों, नुक्कड़ सभाओं पर विराम लग गया है. प्रथम चरण में 10 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों की सभी लोकसभा सीटों के लिए मतदान होगा.

कमल का बटन दबाएंगे तो आपका वोट मेरे लिए होगा, मुझे मजबूत करें: कर्नाटक में बोले PM मोदी

यूपी की 80 लोकसभा सीटों में से 8 के लिए कल होगा मतदान
इनमें आंध्र प्रदेश की 25 लोकसभा सीटें, तेलंगाना की 17, उत्तराखंड की पांच, अरुणाचल प्रदेश, जम्मू एवं कश्मीर और मेघालय की दो-दो सीटें तथा छत्तीसगढ़, मणिपुर, मिजोरम, नागालैंड, सिक्किम, त्रिपुरा, अंडमान एवं निकोबार के साथ ही लक्ष्यद्वीप की एक-एक सीट शामिल हैं. प्रथम चरण के मतदान के दौरान उत्तर प्रदेश की 80 लोकसभा सीटों में से आठ के लिए, बिहार की 40 सीटों में से चार के लिए और पश्चिम बंगाल की 42 में से दो सीटों के लिए मतदान होगा.