नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव के लिए पश्चिम बंगाल में विशेष पर्यवेक्षक एवं केंद्रीय पुलिस पर्यवेक्षक के तौर पर दो सेवानिवृत्त नौकरशाहों की नियुक्ति को चुनौती देने वाली याचिका पर मंगलवार को सुनवाई से इनकार कर दिया. न्यायमूर्ति अरुण मिश्रा और न्यायमूर्ति एम. आर. शाह की अवकाश पीठ ने कहा कि चूंकि मतदान सम्पन्न हो गए हैं इसलिए न्यायालय याचिका पर सुनवाई को इच्छुक नहीं है. Also Read - Board Result 2021: सुप्रीम कोर्ट का निर्देश- 31 जुलाई तक सभी बोर्ड जारी करें 12वीं बोर्ड के रिजल्ट

पीठ ने याचिकाकर्ता रामू मंडी को कलकत्ता हाई कोर्ट में याचिका दायर करने की छूट दी. याचिकाकर्ता पश्चिम बंगाल के बैरकपुर से बतौर निर्दलीय उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे हैं. गौरतलब है की पश्चिम बंगाल में चुनावों के दौरान केंद्रीय पुलिस पर्यवेक्षक के तौर पर दो सेवानिवृत्त नौकरशाहों की नियुक्ति की गई थी जिसके खिलाफ पश्चिम बंगाल के बैरकपुर से  निर्दलीय उम्मीदवार रामू मंडी ने सुप्रीम कोर्ट अर्जी दी थी. Also Read - नारद मामले में ममता बनर्जी, घटक की याचिकाओं पर सुनवाई से अलग हुए सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश

Also Read - बीजेपी सांसद ने की बंगाल को दो भागों में बांटने की मांग, कहा- जंगलमहल अलग राज्य बने