नई दिल्ली: महात्मा गांधी पर भाजपा सांसद अनंत हेगड़े की विवादित टिप्पणी को लेकर लोकसभा और राज्‍यसभा में मंगलवार को कांग्रेस समेत कई विपक्षी दलों के सदस्यों ने सदन में भारी हंगामा किया और हेगड़े के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए सदन से वाकआउट किया. दूसरी ओर संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कांग्रेस पर ‘नकली गांधी का अनुयायी’ होने का आरोप लगाया और कहा कि भाजपा महात्मा गांधी की असली अनुयायी है. Also Read - विधानसभा चुनावों की वजह से लोकसभा समय से पहले अनिश्चितकाल के लिए स्थगित

इसी विषय पर लोक सदन की कार्यवाही जब दोपहर 12 बजे आरंभ हुई, तो कांग्रेस के सदस्य हंगामा करने लगे. द्रमुक और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के सदस्य अपने स्थान पर खड़े हो गए. सदन में शून्यकाल के दौरान इस विषय को उठाते हुए लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीररंजन चौधरी ने कहा कि पूरी दुनिया गांधी की पूजा करती है, लेकिन भाजपा के लोग राम के पुजारी का अपमान कर रहे हैं. उन्होंने भाजपा पर ‘गोडसे पार्टी’ होने का आरोप लगाया और कहा कि इस मामले पर सरकार को कार्रवाई करनी चाहिए. Also Read - राज्यसभा ने राष्ट्रीय राजधानी राज्यक्षेत्र शासन संशोधन विधेयक को दी मंजूरी, लोकसभा से पहले ही पास हो चुका है यह बिल

सदन में अपनी बात रखते हुए चौधरी ने भाजपा के लिए एक शब्द का इस्तेमाल किया जिसे लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कार्यवाही से हटाने का निर्देश दिया. कांग्रेस के सदस्य नारेबाजी करते हुए आसन के निकट पहुंच गए. उन्होंने ‘गोडसे पार्टी मुर्दाबाद’ और ‘महात्मा गांधी अमर रहें’ के नारे लगाए.

संसदीय कार्य मंत्री जोशी ने कांग्रेस पर पलटवार करते हुए कहा कि ये लोग ‘नकली गांधी’ के अनुयाई है, जबकि भाजपा महात्मा गांधी का सही मायने में अनुसरण करती है. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निर्देश पर भाजपा के सभी सांसदों ने गांधी की 150वीं जन्म जयंती के मौके पर पद यात्राएं निकालीं.

जोशी ने यह भी कहा कि हेगड़े ने स्पष्ट कर दिया कि उन्होंने ऐसा कुछ नहीं कहा जिसकी चर्चा की जा रही है. बाद में कांग्रेस, द्रमुक, तृणमूल कांग्रेस और राकांपा के सदस्य सदन से वाकआउट कर गए. इसस पहले इसी विषय विपक्षी सदस्यों के हंगामे के कारण सदन की कार्यवाही शुरू होने के कुछ ही मिनट बाद दोपहर 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई.

सदन की कार्यवाही आरंभ होते ही सभा ने ओमान के दिवंगत सुल्तान कबूस बिन सईद और कई पूर्व दिवंगत लोकसभा सदस्यों को कुछ पल मौन रखकर श्रद्धांजलि दी.

इसके बाद लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने जैसी ही प्रश्नकाल शुरू किया तो कांग्रेस, द्रमुक और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के सदस्य अपने स्थान पर खड़े हो गए. कांग्रेस सदस्यों ने हेगड़े की विवादित टिप्पणी का मुद्दा उठाया और ‘महात्मा गांधी अमर रहे’ के नारे लगाए.

शोर-शराबे के बीच बिरला ने विपक्षी सदस्यों से कहा कि गृह मंत्री (अमित शाह) जवाब देना चाहते हैं और आप लोग चर्चा करिए. लोकसभा में मंगलवार को राष्ट्रीय नागरिक पंजी से जुड़ा प्रश्न सूचीबद्ध था और सदन में गृह मंत्री अमित शाह मौजूद थे. सदन में हंगामा थमता नहीं देख उन्होंने करीब 11 बजकर 10 बजे सभा की बैठक दोपहर 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी.

खबरों के मुताबिक हेगड़े ने पिछले दिनों बेंगलुरू के एक कार्यक्रम में कथित तौर पर दावा किया कि आजादी की पूरी लड़ाई अंग्रेजों की सहमति एवं सहयोग से लड़ी गई थी और महात्मा गांधी के नेतृत्व वाला स्वतंत्रता आंदोलन एक ‘नाटक’ था.