नई दिल्ली: दिल्ली हिंसा पर लोकसभा में आज नियम 193 के तहत चर्चा होगी, चर्चा के बाद मतदान नहीं होगा. लोकसभा की कार्यसूची के मुताबिक यह चर्चा प्रश्नकाल और सदन के पटल पर मंत्रालय के पेपर्स प्रस्तुत करने के तुरंत बाद यानि 12 बजे के बाद शुरू होगी. इससे पहले लोकसभा में इस मुद्दे पर हंगामे के कारण पीठासीन अधिकारी ने कांग्रेस के सात सदस्यों को पूरे सत्र के लिए निलंबित कर दिया था. लोकसभा की बुलेटिन में कहा गया है था कि कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी और भाजपा सदस्य दिल्ली के कुछ हिस्सों में हाल में पैदा हुई कानून-व्यवस्था की स्थिति पर चर्चा शुरू करेंगे. Also Read - Covid-19 Fight: कोरोना से लड़ने के लिए केंद्र सरकार का एक और बड़ा कदम, गठित हुईं 11 टीमें

इस मुद्दे पर गृहमंत्री अमित शाह करीब शाम पांच बजे इसपर जवाब देंगे. इसके अलावा कांग्रेस मध्य प्रदेश संकट को भी उठा सकती है, जबकि वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने कहा था कि उनके पास पुख्ता सबूत हैं कि भाजपा द्वारा किराए पर लिए गए चार्टर्ड विमानों से बागी विधायकों को बेंगलुरू ले जाया गया.

नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी द एयरक्राफ्ट अमेंडमेंड बिल, 2020 को चर्चा और पारित करने के लिए पेश करेंगे. लोकसभा में स्वास्थ्य और विदेश मंत्रालय सहित तीन मंत्रालयों की अनुदान मांगों पर भी चर्चा हो सकती है.