नई दिल्ली: इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के पूर्व प्रमुख ललित मोदी के भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेताओं से संबंध और मध्य प्रदेश व्यावसायिक परीक्षा मंडल (व्यापमं) घोटाले को लेकर लोकसभा में शुक्रवार को भी कांग्रेस के नेतृत्व में विपक्षी दलों ने हंगामा किया, लेकिन हंगामे के बीच सदन की कार्यवाही जारी रही। सदन की कार्यवाही शुरू होते ही विपक्षी सदस्यों ने ललित के साथ भाजपा नेताओं के संबंधों तथा व्यापमं घोटाले को लेकर स्थगन प्रस्ताव पेश किया। यह भी पढ़े:राज्यसभा में हंगामा, कार्यवाही बाधित Also Read - राहुल गांधी सुबह साढ़े 4 बजे मछली पकड़ने समुद्र में गए, कहा- मछुआरों के काम का करते हैं सम्मान, इनके लिए...

Also Read - राजस्थान उपचुनाव: अशोक गहलोत और सचिन पायलट के बीच तालमेल बिठाने की कोशिश कर रही कांग्रेस

विपक्षी सदस्यों ने तख्तियां लहराईं और वे अध्यक्ष की आसंदी के पास पहुंच गए। उन्होंने ‘प्रधानमंत्री जवाब दो’ और ‘वी वांट जस्टिस’ के नारे लगाए। लेकिन अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने कार्यवाही चलाने की कोशिश की। Also Read - संजय राउत ने कहा- गुजरात नगर निगम चुनाव में कांग्रेस की हार लोकतंत्र के लिए नुकसानदेह, पार्टी को विचार करना होगा

उन्होंने कहा, “जो तख्तियां लहरा रहे हैं, वे ऐसा करना बंद करें, वरना, मुझे आपको निलंबित करना पड़ेगा।” केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री एम.वेंकैया नायडू ने कहा कि विपक्षी सदस्य बार-बार हंगामा कर रहे हैं, इसलिए अध्यक्ष उनके खिलाफ कार्रवाई करें। विपक्ष के हंगामे के बावजूद कार्यवाही जारी रही।