नई दिल्ली. भारत से फरार भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी की मुश्किलें और बढ़ गई हैं. एक तरफ लंदन में उसे गिरफ्तार कर हिरासत में भेज दिया गया है, दूसरी ओर यहां भारत में ईडी ने उसकी करोड़ों की संपत्ति की नीलामी की घोषणा कर दी है. जी हां, पंजाब नेशनल बैंक के 13 हजार करोड़ रुपए से अधिक के फर्जीवाड़े का आरोपी नीरव मोदी, भारत से भागने के बाद न सिर्फ अपनी साख गंवा चुका है, बल्कि उसकी मुसीबतें भी दिनों-दिन बढ़ती जा रही हैं. अब लंदन की कोर्ट में उसे जमानत न मिलने के मामले पर ही गौर करें तो खबर यह है कि कारोबार में भरोसा गंवा चुके नीरव मोदी पर कानून को भी भरोसा नहीं है. दरअसल, लंदन की अदालत को संदेह था कि अगर बुधवार को नीरव मोदी को जमानत दे दी गई तो वह दोबारा कोर्ट में पेश नहीं होगा. यानी बेल मिलते ही नीरव मोदी फिर ‘भाग जाएगा’. इसलिए कोर्ट से हीरा कारोबारी को जमानत नहीं मिली और उसे 29 मार्च तक की हिरासत में भेज दिया गया.

लंदन की वेस्टमिंस्टर की मजिस्ट्रेट अदालत ने नीरव की जमानत की अर्जी खारिज करते हुए उसे 29 मार्च तक हिरासत में भेज दिया है. अदालत के न्यायाधीश ने कहा कि इस बात का पर्याप्त आधार है कि यदि अभियुक्त को जमानत पर छोड़ा गया तो वह बाद में आत्मसमर्पण के लिए पेश नहीं होगा. इस घटनाक्रम को नीरव मोदी को पूछताछ के लिए भारत लाने और इस में शामिल सभी अभियुक्तों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की भारतीय जांच एजेंसियों के प्रयास में एक बड़ी सफलता माना जा रहा है. आपको बता दें कि प्रवर्तन निदेशालय ने मनी लाउंड्रिंग के एक मामले में नीरव मोदी के प्रत्यर्पण के लिए लंदन की एक अदालत में अपील की थी. अदालत ने अपील पर सुनवाई करते हुए मंगलवार को नीरव मोदी के खिलाफ गिरफ्तारी का वारंट जारी किया था. स्कॉटलैंड यार्ड ने बुधवार को लंदन के होलबोर्न इलाके से नीरव मोदी को गिरफ्तार किया था.

भगोड़ा हीरा कारोबारी नीरव मोदी लंदन में गिरफ्तार

नीरव मोदी की 173 पेंटिंग, 11 गाड़ियों की होगी नीलामी
प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) भगोड़े कारोबारी नीरव मोदी की 173 पेंटिंग और 11 गाड़ियों की नीलामी करेगा. ईडी ने मुंबई में एक विशेष अदालत से इसके लिए अनुमति हासिल कर ली है. अधिकारियों ने बताया कि धन शोधन रोकथाम कानून (पीएमएलए) के तहत दर्ज मामलों की सुनवाई करने वाली अदालत ने नीरव मोदी की पत्नी एमी के खिलाफ गैर जमानती वारंट भी जारी किया. ईडी ने दो अरब डॉलर के पीएनबी घोटाले में उसकी भूमिका को रेखांकित करते हुए हाल में एक पूरक आरोपपत्र दाखिल किया था.

प्रवर्तन निदेशालय और आयकर विभाग नीरव मोदी की 173 पेंटिंग और रॉल्स रॉयस, पोर्श, मर्सिडीज और टोयोटा फोर्च्युनर जैसे 11 वाहनों की नीलामी करेगा. पेंटिंग की कीमत 57.72 करोड़ रुपए आंकी गई है. आयकर विभाग ने 68 पेंटिंग को नीलाम करने की अनुमति के लिए अदालत का रुख किया था. अदालत ने ईडी की अनापत्ति के बाद ऐसा करने की इजाजत प्रदान कर दी. बाकी पेंटिंग की नीलामी प्रवर्तन निदेशालय करेगा. अधिकारियों ने बताया कि पेंटिंग और गाड़ियों की नीलामी से जुटाई गई राशि सरकारी खजाने में जमा की जाएगी.

(इनपुट – एजेंसी)