नई दिल्ली: लंबे इंतजार के बाद आज लखनऊ वासियों को मेट्रो की सौगात मिली है. नवाबों के शहर लखनऊ में कल से मेट्रो दौड़ने लगेगी. गृहमंत्री राजनाथ सिंह और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ मेट्रो रेल सेवा का शुभारंभ बटन दबाकर किया. इस मौके पर राज्यपाल राम नाइक, डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा और कई विधायक भी मौजूद रहे. आज उद्घाटन के बाद लखनऊ मेट्रो 6 सितंबर से आम लोगों के लिए शुरू हो जाएगी.

उद्घाटन के दौरान सीएम योगी ने कहा कि समय पर योजना का पूरा होना काफी बड़ी बात है. मेट्रो की शुरुआत सीमित समय पर पूरा करने पर पूरी टीम को बधाई.

योगी आदित्यनाथ ने आगे कहा कि ये राजनाथ सिंह जी का संसदीय क्षेत्र है, उन्होंने यहां आने का हमारा निमंत्रण स्वीकारा. इसी के साथ शहरी विकास मंत्री हरदीप पुरी जी ने भी हमारे निमंत्रण को स्वीकार कर यहां आने का फैसला किया. कार्यभार संभालने के बाद ये पहला आधिकारिक कार्यक्रम है जिसमें वह शिरकत कर रहे हैं.

लखनऊ वासियों को पूरा कार्यक्रम दिख रहा होगा, अधूरा नहीं दिख रहा होगा. कल से इसका व्यवसायिक संचालन शुरू हो जाएगा. साढ़े 8 किमी. की दूरी को तय करने में लोगों को 6 महीने का इंतजार नहीं करना पड़ेगा. ये कल ही शुरू हो जाएगी. मैं इस मौके पर लखनऊ वासियों को ह्रदय से शुभकामनाएं दे रहा हूं. जब लखनऊ का लोन स्वीकार किया जा रहा था तो भारत की ओर से हरदीप पुरी जी ही ने हस्ताक्षर किए थे जो आज यहां उपस्थित हैं. मैं इसे एक संयोग मानता हूं. योगी ने आगे कहा कि हमारी सरकार प्रदेश के कई शहरों में मेट्रो चलवाने की योजना पर काम कर रही है.

 

इस मेट्रो में हैं कई खूबियां

बेहद नई तकनीक से भरपूर इस मेट्रो सर्विस में कई खूबियां हैं. दूसरे मेट्रो की तुलना में लखनऊ मेट्रो को काफी एडवांस माना जा रहा है. इसमे कई ऐसे फीचर्स हैं, जो देश के दूसरे मेट्रो में नहीं हैं. लखनऊ मेट्रो कॉर्पोरेशन के मैनिजिंग डायरेक्टर कुमार केशव ‘आज तक’ को बताया कि अत्याधुनिक सुरक्षा मानकों और सुविधाओं से लैस लखनऊ मेट्रो कोच्चि मेट्रो से भी कहीं आगे है.

ये हैं एडवांस फीचर्स

लखनऊ मेट्रो ट्रेन सभी स्टेशनों पर खुद-ब-खुद रुकेगी.

2. मेट्रो के पहियों से बिजली भी पैदा की जाएगी.

3. मेट्रो में सफर करने वाले यात्रियों पर कंट्रोल रूम से निगरानी की जा सकेगी.

4. किसी भी इमरजेंसी में मेट्रो पर कंट्रोल रूम से ही ब्रेक लगाया जा सकेगा.

5. मेट्रो के एंट्री गेट तीन फीट तक के बच्चों के लिए फ्री में खुलेंगे.

6. किसी इमरजेंसी में क्रू-केबिन का दरवाजा सीधे ट्रैक पर खुल सकेगा.

7. कोच में लगी एलईडी रोशनी बाहर के हिसाब से कम ज्यादा खुद-ब-खुद होती रहेगी.

8. यात्री इमरजेंसी के हालात में सीधे ट्रेन ऑपरेटर से बात कर सकेंगे.

9. स्टेशनों पर भी यात्री सुविधाएं बेहतरीन हैं, फ्री वाई-फाई के साथ स्टेशन ग्रीन टॉयलेट से लैस हैं.

10. इस मेट्रो में सुरक्षा सिस्टम भी सबसे आधुनिक है, ट्रेन काफी तेजी से रफ्तार पकड़ती है और उतनी ही तेजी से ये रोकी भी जा सकती है.

सुबह 6 बजे से रात 10 बजे तक चलेगी

लखनऊ मेट्रो रोजाना सुबह 6 बजे से रात 10 बजे तक चलेगी. 8 किलोमीटर की दूरी में कुल 8 स्टेशन हैं. इसका एवरेज हर एक किलोमीटर पर एक मेट्रो स्टेशन है. टांसपोर्ट नगर, कृष्णा नगर, सिंगार नगर, आलमबाग, आलमबाग बस स्टैंड, मवैया, दुर्गापुरी और चारबाग स्टेशन शामिल हैं. लखनऊ में मेट्रो के चार रूट तैयार हो रहे हैं.